लापरवाही:अस्पताल के मेन गेट पर रखे थे पुराने बेड लाइटें खराब और स्टाफ भी था बिना ड्रेस

हिसार5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के बाहर रखे पुराने बेड्स देख भड़कीं डीजी डॉ. वीना सिंह मैट्रन को निलंबित करने के आदेश देते हुए। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के बाहर रखे पुराने बेड्स देख भड़कीं डीजी डॉ. वीना सिंह मैट्रन को निलंबित करने के आदेश देते हुए।

सिविल अस्पताल में शनिवार को डीजीएचएस डॉ. वीना सिंह निरीक्षण करने पहुंचीं। इमरजेंसी वार्ड के मेन गेट पर पुराने बेड्स देखकर भड़क गईं। मौजूद हेल्थ अफसरों को तुरंत अव्यवस्था के लिए जिम्मेदार मैट्रन से स्पष्टीकरण मांगने के लिए कहा। तभी डायरेक्टर हेल्थ डॉ. डीएन बागड़ी ने बताया यहां की मैट्रन मेरा फोन तक नहीं उठाती है। इतना सुनते ही डीजी ने मैट्रन को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए। हालांकि बाद में डीजी ने आश्वस्त किया कि निलंबन के ऑर्डर विड्रा हो जाएंगे।

डीजी ने निरीक्षण के दौरान अव्यवस्था देख सीएमओ डॉ. रतना भारती से कहा कि बुरीिस्थति है। किसी को काम की लग्न नहीं है। कंडम सामान रखा हुआ है। इसके अलावा कोई ड्रेस कोड लागू नहीं है। आई एम अन हैप्पी (मैं इससे नाखुश हूं)। इसके बाद डॉ. वीना सिंह ने कहा कि अस्पताल में प्रवेश करते ही लाइटिंग की उचित व्यवस्था होनी चाहिए। अंधेरा बिल्कुल न रहे। डॉक्टर्स व स्टाफ से कहा कि आप भगवान की तरह हैं। यहां मरीज आते हैं उनकी इज्जत करें और देखभाल करें।

टीबी अस्पताल की नई बिल्डिंग का प्रस्ताव तैयार करने के आदेश

हिसार; डीजीएचएस डॉ. वीना सिंह ने कंडम घोषित टीबी अस्पताल का दौरा किया। जर्जर भवन देखकर हेल्थ अफसरों से कहा कि इसी जगह पर नया टीबी अस्पताल बनाया जाएगा। इसके लिए तुरंत प्रभाव से नई बिल्डिंग निर्माण का प्रस्ताव तैयार करके स्वास्थ्य मुख्यालय भिजवाएं। इस दौरान मौजूद ज्वाइंट डायरेक्टर टीबी सीटीडी भारत सरकार डॉ. विवेकानंद सी. गिरी ने बताया कि उक्त प्रस्ताव को केंद्र से फंडिंग दिलवाने में पूरा सहयोग करें। डीजी ने कहा कि प्रस्ताव तैयार करते समय जरूरी बातों का ध्यान रखें ताकि बाद में दिक्कतें न आईं। डीजी ने कंडम भवन में स्वयं के खर्चें से रंगरोगन करवाने पर डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र शर्मा को सराहा।

खबरें और भी हैं...