• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • The patient did not even step in Sector 27 28, made him return from the Containment Zone, Delhi Gurugram and got the test done thrice in a month.

सिस्टम पर सवाल / सेक्टर 27-28 में रोगी ने कदम तक नहीं रखा उसे बना दिया कंटेनमेंट जोन, दिल्ली-गुरुग्राम से लौटकर एक माह में तीन बार करवाया टेस्ट

X

  • सिविल अस्पताल के फ्लू क्लीनिक में बिना लक्षण वाले लोगों को बिना सैंपलिंग के लौटाया जा रहा

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 06:35 AM IST

हिसार. कोरोना काल में अजब-गजब मामले सामने आने लगे हैं, जोकि सिस्टम पर सवाल उठा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला कंटेनमेंट जोन से जुड़ा है तो दूसरा कोरोना टेस्ट को लेकर। हाल ही में एक मजदूर कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसने सेक्टर 27-28 स्थित फैक्ट्री तो दूर की बात एरिया तक में कदम भी नहीं रखा था, बावजूद इसके सेक्टर को कंटेनमेंट जोन व बफर जोन घोषित कर दिया। इधर, सिविल अस्पताल के फ्लू क्लीनिक में बिना लक्षण वाले लोगों को कोविड सैंपलिंग के बिना लौटाया जाता है।

वहीं, एक व्यक्ति ऐसा मिला है जिसकी एक महीने के भीतर एक-दो नहीं बल्कि 3 बार कोविड जांच हो चुकी है। तीनों ही बार रिपोर्ट निगेटिव आई है। दोनों ही मामलों से स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन वाकिफ है। जिस पर संज्ञान लेकर जांच शुरू कर दी है।

पढ़िए.... क्या हैं दोनों मामले जो आ चुके हैं हेल्थ विभाग के भी संज्ञान में
1. कंटेनमेंट जोन पर सवाल: सेक्टर 27-28 स्थित फैक्ट्री के संचालक ने स्वास्थ्य विभाग को शपथ पत्र दिया है। उसने बताया कि 22 मार्च से मजदूर फैक्ट्री में नहीं आया है। 27 जून को दिल्ली से लौटकर मजदूर ने संपर्क किया था। बायोलॉजिस्ट डॉ. रमेश पूनिया को जानकारी दी, जिनकी सलाह पर उसे फ्लू क्लीनिक में जांच के लिए भेजा था। वहीं से सैंपलिंग करवाकर होटल स्काई इन में पेड क्वारेंटाइन कर दिया था। जिसके रेंट का भुगतान तक किया है।

रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर नियमानुसार उसे आइसोलेट किया है। ऐसे में वह सेक्टर 27-28 में नहीं आया। ऐसे में अब सीएमओ ने मामले पर संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन को पत्र लिखकर मामले से अवगत करवाया है। उसमें कंटेनमेंट जोन व बफर जोन के डिसकंटीन्युशन की बात लिखी है। इसे स्वीकार कर लिया है।

2. सैंपलिंग में खेल: पिछले कुछ दिनों से फ्लू क्लीनिक पर सैंपलिंग को लेकर अलग ही खेल चल रहा है। दूसरे जिलों व राज्यों से आने वाले बिना लक्षण वाले लोगों की सैंपलिंग नहीं हो रही है। उन्हें घर क्वारेंटाइन रहने व पांचवें-सातवें दिन लक्षण होने पर संपर्क की सलाह दी जा रही है। इस दौरान 44 वर्षीय एक ऐसे शख्स की रिपोर्ट सामने आई है जिसने तीन बार कोविड जांच करवाई है। एक माह या 30 दिनों के अंतराल में 29 मई, 12 जून और 28 जून 2 बार दिल्ली और एक बार गुरुग्राम से लौटकर सैंपल दिए। तीनों ही बार रिपोर्ट निगेटिव आई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना