पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनाज मंडी में हजारों क्विंटल गेहूं खुले में पड़ा:बारिश में हुआ खराब, उठान में देरी से आढ़ती और किसान चिंतित

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अनाज मंडी में खुले में पड़ा गेहूं। अभी 2 दिन और मौसम खराब रहने के आसार हैं। - Dainik Bhaskar
अनाज मंडी में खुले में पड़ा गेहूं। अभी 2 दिन और मौसम खराब रहने के आसार हैं।
  • 6 दिन में हिसार मंडी से 2 लाख 80 हजार बैग का उठान ताे जिले में 47 लाख 28 हजार बैगाें की लिफ्टिंग

अनाज मंडी में अभी भी हजाराें क्विंटल गेहूं खुले में पड़ा है। हालांकि खरीद एजेंसियाें की ओर से इस महीने 2 लाख 80 हजार बैग का उठान हुआ ताे जिले में 47 लाख 28 हजार बैगाें की लिफ्टिंग हुई मगर धीमी रफ्तार से हाे रही गेहूं उठान के कारण किसानाें और आढ़तियाें के चेहरे पर चिंता की लकीरें साफ देखी जा सकती हैं। अभी गेहूं की नई खरीद नहीं हाे रही है।

गुरुवार दाेपहर काे भास्कर संवाददाता ने अनाज मंडी का दाैरा कर पाया कि हजाराें क्विंटल गेहूं खुले में पड़ा है। कुछ गेहूं बाेराें में बंद है ताे काफी खुला भी पड़ा है। चूंकि माैसम विभाग ने पहले ही बारिश की घाेषणा कर दी थी, लेकिन खरीद एजेंसियाें ने गेहूं उठान काे लेकर कदम नहीं उठाया। अभी आगे भी बारिश का माहाैल बना रहेगा।

गुरुवार काे हिसार में 0 प्वाइंट 31 एमएम बारिश हुई। मंडी में माैजूद किसान वीरभान, हंसू, कालिया और सुक्खा ने कहा कि वे अपना गेहूं मंडी में डाल चुके हैं, लेकिन जिस तरह खुले में गेहूं पड़ा है, उससे साफ है कि हजाराें क्विंटल गेहूं खराब हाे रहा है। वहीं आढ़तियाें ने भी खरीद एजेंसियाें व ठेकेदार पर मनमानी का आराेप लगाया।

अनाज मंडी के जिला प्रधान पवन गर्ग असरावां ने कहा कि खरीद एजेंसियां धीमी गति से काम रही हैं। इससे खुले में पड़ा गेहूं बारिश से खराब हाे रहा है। किसानाें और आढ़तियाें काे काफी नुकसान हाे रहा है।

खबरें और भी हैं...