रफ्तार में कोरोना:शहर में तीसरी लहर; 80 फीसद रोगी मोहल्लों और सेक्टरों में मिले, गांवों में कम

हिसार8 दिन पहलेलेखक: भूपेश मथुरिया
  • कॉपी लिंक
राजगुरु मार्केट में शाम 6 बजे के बाद लोगों की लगी भीड़। - Dainik Bhaskar
राजगुरु मार्केट में शाम 6 बजे के बाद लोगों की लगी भीड़।

कोरोना की तीसरी लहर में शहर महामारी से ज्यादा जूझ रहा है। यहां के मोहल्लों से लेकर पॉश इलाकों व सेक्टरों में 80 फीसद संक्रमित मिले हैं। इनकी तुलना में ग्रामीण इलाकों में केस कम हैं। शहरवासियों की लापरवाही भीड़भाड़ वाले इलाकों में देखने को मिलती है, जहां न तो मास्क पहनते हैं और न ही 2 गज की दूरी बनाकर रखते हैं।

थर्ड वेव में 12 जनवरी तक 639 संक्रमित मिले थे। इनमें से हिसार शहर के 536 केस थे। 13 जनवरी को 114 में से 92 और 14 जनवरी को 178 में से 131 रोगी हिसार शहर के रहने वाले हैं। ऐसे में जिस गति से संक्रमण शहर में फैल रहा है, उसके मुकाबले गांवों में रोगियों की संख्या फिलहाल काफी कम है। शहरी इलाके में 10 दिनों के भीतर केस तेजी से बढ़ सकते हैं।

  • ब्लॉक - केस मिले
  • आदमपुर - 06
  • आर्य नगर - 10
  • बरवाला - 25
  • मंगाली - 08
  • नारनौंद - 10
  • सिसाय - 07
  • सीसवाल 10
  • सोरखी - 06
  • उकलाना - 05
  • अर्बन हांसी - 16
  • अर्बन हिसार - 536

नोटः 12 जनवरी तक की केस रिपोर्ट।

राजगुरु मार्केट में शाम 6 बजे के बाद लोगों की लगी भीड़। नगर निगम टीम ने शुक्रवार काे 6 बजकर 20 मिनट पर सभी मेन बाजार बंद करा दिए। हालांकि सरकार की गाइडलाइन के अनुसार फिर भी 20 मिनट देरी से बाजार बंद हुए। टीम ने मास्क न पहनने वाले पांच व्यापारियाें के चालान भी किए। तहबाजारी टीम इंचार्ज सुरेंद्र वर्मा व सुरेंद्र शर्मा ने बताया कि बाजाराें में टीम 5 बजकर 58 मिनट पर पहुंच गई। 6.20 तक बाजार बंद करा दिया।

रिकवरी रेट घटकर 96.82 फीसद हुआ
आइडीएसपी इंचार्ज डॉ. सुभाष खतरेजा ने बताया कि शुक्रवार को जिले में कोरोना संक्रमण के 178 नए मामले आए हैं। इसके चलते एक्टिव केस बढ़कर अब 607 हो गए हैं, लेकिन रिकवरी रेट घटकर 96.82 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जिले में अभी तक 8 लाख 49 हजार 384 लोगों की जांच की जा चुकी है, जिसमें संक्रमण के कुल 54 हजार 933 मामले सामने आ चुके हैं। अब तक कुल 53 हजार 184 लोग कोरोना से रिकवर हो चुके हैं। शुक्रवार को 77 व 14 दिनों में कुल 323 रोगियों ने कोरोना को हराया है।

जानिए... शहर के पॉश इलाकों में क्यों बढ़ रहे ज्यादा केस

1. ट्रेवल हिस्ट्री : जिले के पॉश इलाकों व सेक्टरों में काफी लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री है। कोई वादियों में घूमकर लौटा है तो कोई सी-बीच पार्टी करके आया है। ऐसे भी लोग हैं जो विदेश घूमकर आए हैं। अब लोग अपनी ट्रेवल हिस्ट्री भी छुपाने लगे हैं।

2. भीड़भाड़ में लापरवाही : घर से बाहर निकलते ही मास्क पहनना चाहिए लेकिन लोग लापरवाही बरत रहे हैं। कोई मास्क पहन रहा है तो नाक से नीचे रखते हैं। भीड़ मेंं 70% लोग मास्क पहनने व दो गज की दूरी रखने में लापरवाही बरतते हैं।

3. छुपाना : काफी लोग ऐसे हैं जो अस्वस्थ हैं। कोरोना के लक्षणों से ग्रस्त हैं मगर इन्हें नजरअंदाज करके दवा खाते रहते हैं। ऐसे लोगों से कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा बना हुआ है। हालांकि अभी कोरोना की लंबी चेन बनने के मामले सामने नहीं आए हैं।

कोरोना ब्लास्ट... 178 नये रोगी मिले, जिनमें 25 स्टूडेंट्स व 9 डॉक्टर
जिले में शुक्रवार को कोरोना ब्लास्ट हुआ। 178 नये रोगी मिले हैं, जो सीजन का सर्वाधिक आंकड़ा है। आईडीएसपी इंचार्ज डॉ. सुभाष खतरेजा ने बताया कि सेक्टर 14, प्रताप नगर, शिव नगर व जवाहर नगर में बैंकर, जीजेयू न्यू कैंपस में 50 वर्षीय महिला व प्रोफेसर, सेक्टर-15 व कुंजलाल गार्डन में 1-1 हेल्थ वर्कर, मॉडल टाउन में नर्सिंग स्टाफ, सेक्टर 13 व निजी स्कूल में 1-1 टीचर, अग्रसेन काॅलोनी में डॉक्टर, जवाहर नगर में लेक्चरर, बोबुआ में नर्सिंग स्टाफ, सेंट्रल जेल वन में बंदी, सेक्टर 14 में साइंटिस्ट, डॉक्टर, कम्युनिटी सेंटर के पास पुलिस कर्मी, किनाला वासी कर्मी, सिटी थाना के पास क्वार्टर में 2 पुलिस कर्मी, ग्लोबल स्पेस में नर्सिंग स्टाफ, सेक्टर 1-4 में हेल्थ वर्कर, सिविल अस्पताल में डॉक्टर, आजाद नगर में हेल्थ वर्कर, ग्लोबल स्पेस व राजेंद्रा इंक्लेव में 3 डॉक्टर, कौंथकलां में 2 टीचर, सेक्टर 13 में डॉक्टर, अग्रोहा कॉलेज में 2 डॉक्टर, सेक्टर-5 में साइंटिस्ट इत्यादि संक्रमित मिले।

खबरें और भी हैं...