लास्ट फाइनल सेटेलमेंट स्कीम:इनहांसमेंट की अंतिम तिथि बढ़ाने के लिए कै. भूपेन्द्र ने की सीएम से बात, बढ़ सकती है तारीख

हिसार6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रिंसिपल ओएसडी व हुडा के मुख्य प्रशासक से की बात, मिला आश्वासन

शहर के विभिन्न सेक्टरों में आई इनहांसमेंट की अंतिम तिथि बढ़वाने के लिए भाजपा के जिला अध्यक्ष कै. भूपेन्द्र, वीरचक्र ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से संपर्क साधा है तथा अन्य अधिकारियों से बात की है।

भाजपा के जिला अध्यक्ष कै. भूपेन्द्र, वीरचक्र ने बताया कि सेक्टरों में आई इनहांसमेंट भरने की अंतिम तिथि हुडा विभाग ने 30 अप्रैल निर्धारित कर रखी है। वर्तमान समय में कोरोना काल चल रहा है ऐसे में उनकी आर्थिक स्थिति पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

ऐसे में भारी संख्या में सेक्टरवासियों ने संपर्क करके इनहांसमेंट की तिथि बढ़वाने की मांग की है ताकि कोरोना काल के बाद वे इसे आसानी से भर सकें। कै. भूपेन्द्र, वीरचक्र ने बताया कि सेक्टरवासियों की समस्या को देखते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से संपर्क किया है।

इसके अलावा मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल ओएसडी नीरज दस्तुआर व हुडा के मुख्य प्रशासक अजीत बालाजी जोशी से बात करके इनहांसमेंट की अंतिम तिथि 30 अप्रैल से आगे बढ़वाने की मांग की है। अधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि वे इस विषय पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेंगे।

देर रात तक नहीं बढ़ाई तारीख, सेक्टरवासी अपने हिसाब से जमा करवा सकते हैं इनहांसमेंट

लास्ट फाइनल सेटेलमेंट स्कीम में देर रात तक 30 अप्रैल के बाद इनहांसमेंट जमा कराने की तारीख एक्सटेंड नहीं हो पाई है। सेक्टर 16-17 आरडब्लूए प्रधान जितेंद्र श्योराण ने बताया कि देर शाम चीफ कंट्रोलर फाइनेंस नदीम अख्तर से दोबारा बातचीत हुई।

उन्होंने बताया कि अभी तक एलएफएस स्कीम को बढ़ाया नहीं गया है, लेकिन जिन का गलती से पैसा गलत हेड में जमा हो गया है उनको ठीक करने की प्रक्रिया जारी है। जो लोग पैसा अब भर देंगे, उसके बाद उनको ठीक किया जाएगा। उनके अकाउंट में पैसा वापस किया जाएगा। इसके लिए सेक्टर एसोसिएशन पहले दिन से प्रयासरत है।

श्योराण ने कहा कि जो प्लॉट होल्डर इनहांसमेंट भरना चाहते हैं जो भी साथी का पैसा भर सकता है। वह उनके ऊपर डिपेंड करता है लेकिन इस स्कीम में जिन्होंने इनहांसमेंट की किस्तें जमा करवा दी थी उनके लिए आगे संघर्षरत प्रयास जारी रहेंगे। ताकि उनको भी सम्मान छूट दिलवाई जा सके।

खबरें और भी हैं...