हिसार में 17 एम एम बारिश:आज शनिवार को भी बारिश के आसार, रबि सीजन की फसलों के लिए बेहद फायदेमंद

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश से सब्जी मंडी पुल से गुजरते वाहन - Dainik Bhaskar
बारिश से सब्जी मंडी पुल से गुजरते वाहन

वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के चलते शुक्रवार देर रात से ही हिसार व आसपास के एरिया में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हो रही है। हिसार, आदमपुर, हांसी व नारनौंद एरिया में रात से ही लगातार बूंदें गिरने का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार सुबह 8 बजे तक हिसार व आसपास के एरिया में 17 एम एम बारिश दर्ज की जा चुकी है।

बारिश में जिंदल पार्क का नजारा
बारिश में जिंदल पार्क का नजारा

शनिवार को भी देर रात तक इसी तरह से मौसम परिवर्तनशील रहने, हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है। अरब सागर से आने वाली नमी वाली हवाओं तथा राजस्थान के ऊपर एक चक्रवात सक्रिय होने के कारण प्रदेश में यह बारिश हो रही है। मौसम में हुए बदलाव के कारण तापमान में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। शनिवार सुबह हिसार का अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री व न्यूनतम तापमान 14.1 डिग्री दर्ज किया गया है जो इन दिनों में रहने वाले सामान्य तापमान से 8 डिग्री ज्यादा है।

सरसों के खेतों के ऊपर छाई बादलवाई
सरसों के खेतों के ऊपर छाई बादलवाई

बारिश से रबि फसलों को भरपूर फायदा

बीते चार दिनों से जिले में लगातार बारिश हो रही है। सर्दियों के मौसम में हो रही इस बारिश के कारण गेहूं, सरसों, जौ, चने की फसलों को भरपूर फायदा मिलेगा। इन दिनों सरसों की फसलों में दाना बनने लगा है जिसके कारण पौधे को पोषक तत्वों की ज्यादा जरूरत पड़ती है। खेतों में पर्याप्त मात्रा में नमी बनने से सरसों की फसल की पैदावार बढ़ेगी। इसके अलावा गेहूं, जौ, चने की फसलों की बढ़वार में भी बारिश से फायदा होगा। इस बारिश से किसानों को एक सिंचाई की जरूरत खत्म हो गई है। जिले के किसानों ने इस वर्ष लगभग 87 हजार 870 हेक्टेयर क्षेत्र में सरसों की बिजाई की है। गेहूं की बिजाई 2 लाख 20 हजार हेक्टेयर, चना 10 हजार हेक्टेयर तथा चारा की बिजाई 15 हज़ार हेक्टेयर क्षेत्र में की गई है।