पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कृषि कानूनाें का विराेध:बालसमंद राेड, सेक्टर-15, पुरानी अनाज मंडी चाैक कैमरी राेड और अर्बन एस्टेट में ट्रैफिक रहा बाधित

हिसार10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार के अर्बन एस्टेट में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के आवास पर किसान काले झंडे लेकर पहुंचे और प्रदर्शन करते हुए। - Dainik Bhaskar
हिसार के अर्बन एस्टेट में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के आवास पर किसान काले झंडे लेकर पहुंचे और प्रदर्शन करते हुए।
  • शहर में 4 घंटे तक किसान और पुलिस रहे आमने-सामने, सत्तापक्ष के नेताओं के आवास बने छावनी
  • लाेग रहे परेशान, सांसद-विधायकों के आवासों के पास से ट्रैफिक रूट किए डायवर्ट

कृषि कानूनाें और किसानाें की गिरफ्तारी के विराेध में किसान संगठनाें के प्रदर्शन में शनिवार काे चार घंटे शहर में ट्रैफिक अस्त व्यस्त रहा। सड़काें पर पुलिस और किसानाें वाहन दिखे, वहीं अलग-अलग क्षेत्राें में रूटाें काे डायवर्ट करना पड़ा।

अव्यवस्था की सबसे ज्यादा असर नगर निगम से बालसमंद राेड, पुरानी अनाज मंडी चाैक, पटेल नगर चाैराहा, लाइन पार कैमरी राेड, सेक्टर 15 और अर्बन एस्टेट में दिखा, जहां किसानाें ने सत्तापक्ष के सांसद और विधायकाें के आवास पर प्रदर्शन कर कृषि कानून की प्रतियां जलाईं। इन क्षेत्राें में 20 मिनट से लेकर 30 मिनट तक जाम की स्थिति बनी रही।

सबसे ज्यादा समय अर्बन एस्टेट में डिप्टी सीएम दुष्यंत चाैटाला के आवास पर किसानाें ने लगाया। इस दाैरान पुलिस अधिकारी व किसानाें के बीच तकरार भी हुई। अर्बन एस्टेट में डिप्टी सीएम आवास के सामने का मार्ग 5 घंटे तक पूरी तरह बंद रहा। विश्वास स्कूल के पास से लेकर सूर्य नगर की ओर आने वाले राेड पर दाेनाें ओर बेरिकेड्स लगी थी और भारी पुलिस बल तैनात रहा। रूट डायवर्ट करते हुए अर्बन एस्टेट के मेन राेड से यातायात काे निकाला।

सेक्टर 15 में बरवाला विधायक जोगीराम सिहाग के आवास पर किसान और पुलिस आमने-सामने नजर आए। बेरिकेड हटाने की काेशिश कर रहे किसान नेता प्रधान शमशेर नंबरदार और डीएसपी के बीच तू-तू मैं-मैं हुई।
सेक्टर 15 में बरवाला विधायक जोगीराम सिहाग के आवास पर किसान और पुलिस आमने-सामने नजर आए। बेरिकेड हटाने की काेशिश कर रहे किसान नेता प्रधान शमशेर नंबरदार और डीएसपी के बीच तू-तू मैं-मैं हुई।

नगर निगम राेड 4 घंटे बंद रहा

नगर निगम से बालसमंद राेड की ओर से जाने वाली सड़क काे बेरिकेड्स से बंद कर दिया था। यहां डाॅ. कमल गुप्ता के अावास पर किसान प्रदर्शन करने पहुंचे। पुलिस ने सुबह 9 बजे से रूट डायवर्ट करते हुए प्रीति नगर क्षेत्र से वाहन निकालने शुरू कर दिया। यह व्यवस्था लगभग साढ़े 12 बजे तक रही।

इसी तरह सेक्टर 15 में जाेगीराम सिहाग के आवास के सामने से बेरिकेड्स लगाए, इसके चलते आवागमन 4 घंटे ठप रहा। रणवीर गंगवा और अनूप धानक के आवास के बाहर बेरिकेड्स लगाने से आम जन काे दिक्कत नहीं आई, क्याेंकि कैमरी राेड पूरी तरह खुला रहा।

इधर इनेलाे ने भी किया प्रदर्शन

तीन कृषि काूनन और किसानाें की गिरफ्तारी के विराेध में इनेलाे ने भी प्रदर्शन किया वहीं कृषि कानूनाें की प्रतियां जलाईं। सिरसा राेड पर हुए आक्राेश प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष सतबीर सिसाय ने की। इस माैके पर एडवाेकेट अमित सैनी, युद्धवीर आर्य, ललिता टाक, वेदकाैर पूनिया, यशपाल बेरवाल, सतपाल काजला, अजित लितानी, रघुविंद्र खाेखा, डाॅ. करनैल सिंह, राहुल पांचाल, सुरजीत कडवासरा, प्रदीप बाजिया एडवाेकेट आदि अनेक नेतागण मौजूद थे।

विरोध प्रदर्शन क्रांतिमान पार्क से शुरू हुआ, डिप्टी सीएम के आवास पर समापन

किसानाें की गिरफ्तारी और कृषि कानून के विराेध में किसान शनिवार सुबह 10 बजे क्रांतिमान पार्क पहुंचने शुरू हाे गए। अलग-अलग टाेल पर किसान एकजुट हाेकर हिसार के लिए रवाना हुए। युवा और महिला किसान भी माेर्चा संभाले हुए थीं।

पार्क में सभा करने के बाद किसान हाथाें में काले झंडे लेकर भाजपा विधायक डाॅ. कमल गुप्ता के आवास पर पहुंचे। वहां किसानाें ने नारेबाजी करते हुए मांग की कि डाॅ. कमल गुप्ता काे किसान के समर्थन में इस्तीफा दे देना चाहिए। वहां से किसान जाेगीराम सिहाग के आवास पर पहुंचे और प्रदर्शन किया।

महिला किसानाें ने जजपा विधायक काे खरी खाेटी सुनाते हुए कहा कि भविष्य में वह वाेट मांगने आए ताे उनका बायकाट किया जाएगा। उधर, कैमरी राेड पर डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा, राज्यमंत्री अनूप धानक के आवास तथा पटेल नगर चाैक पर पीएलए क्षेत्र में किसानाें ने पहुंचकर सांसद बृजेंद्र सिंह और पुरानी अनाज मंडी चाैक पर राज्यसभा सांसद डाॅ. सुभाष चंद्रा के आवास के बाहर प्रदर्शन कर कृषि कानूनाें की प्रतियां जलाईं।

चार घंटे तक किसान आगे -आगे और पुलिस पीछे-पीछे रही। हिसार के अलावा हांसी, बरवाला और उकलाना में भी भाजपा व जजपा के विधायकाें के आवास का घेराव किया। पुलिस प्रशासन ने हालांकि पहले से ही बंदाेबस्त करते हुए सभी विधायकाें के आवास पर पुलिस फाेर्स तैनात कर दी थी और बेरिकेड्स लगाकर सुरक्षा के इंतजाम किया हुआ था। वहीं पुलिस फाेर्स की अन्य टुकड़ियां किसान के पीछे-पीछे भी चल रही थी। महिला पुलिस ने भी माेर्चा संभाले हुए था।

प्रदर्शन में कई संगठनों के नेता पहुंचे

किसान संगठनाें के प्रदर्शन कार्यक्रमाें में किसान यूनियन में महासचिव दिलबाग सिंह हुड्डा लुदास, शमशेर सिंह नंबरदार, सत्यवीर पूनिया, सुरेश कुमार दुर्जनपुर, मुकेश कुमार, कुलदीप राणा सातरोड़, दशरथ मलिक देपल, राजीव मलिक उमरा, दीपू मलिक, कैलाश उमरा, अनू सूरा, सोमबीर पिलानियां, विजेंद्र भांभू डोभी, लांधड़ी टोल से संदीप सिवाच, समुन्द्र नम्बरदार, संदीप धीरणवास, अनूप पूनिया, सरदार कुलजीत सिंह, राजू भगत सरसौद, श्रद्धानंद राजली, रीमन नैन खेदड़, रोहतास राजली, सत्यवान खेदड़ और रोघी खाप के प्रतिनिधि बिन्द्र हुड्डा, धर्मपाल बड़ाला रोघी खाप से, मास्टर फूल कुमार, प्रदीप मलिक आदि साथी शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...