पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एचएयू प्रदेश में जल्द दाे और सामुदायिक रेडियाे स्टेशन खोलेगा:फसलों काे बीमारियों से बचाने की मिलेगी ट्रेनिंग, डिप्रेशन से उबारने का करेंगे प्रयास

हिसार15 दिन पहलेलेखक: महबूब अली
  • कॉपी लिंक

किसानाें काे घर पर बैठे कृषि संबंधी जानकारी देने के लिए जल्द एचएयू प्रदेश में दाे और सामुदायिक रेडियाे स्टेशन खाेलने जा रहा है। इस बार रेडियाे स्टेशनाें के माध्यम से किसानों काे फसलाें काे बीमारियाें से बचाव के लिए ऑनलाइन ट्रेनिंग भी दी जाएगी। खास बात यह है कि पहली बार एचएयू के वैज्ञानिक रेडियाे स्टेशनाें के माध्यम से किसानों काे डिप्रेशन से उबारने का प्रयास करेंगे।

कई बार फसलाें का नुकसान हाेने पर किसान टेंशन में रहते हैं। कई बार आत्मघाती कदम उठाने काे मजबूर हाे जाते है। इसके लिए हर केंद्र पर अलग से ड्यूटी लगाई जाएगी। जाे रेडियो स्टेशनों के साथ-साथ ऑन काॅल भी किसानों की समस्याओं का समाधान करेंगे। दरअसल, एचएयू ने हिसार, सिरसा, जींद, झज्जर, राेहतक, कुरुक्षेत्र, पानीपत में कृषि विज्ञान केंद्राें में खुद के रेडियाे स्टेशन स्थापित किए थे।

एचएयू एक साथ सात सामुदायिक रेडियो स्टेशन स्थापित करने वाला देश का पहला कृषि विश्वविद्यालय है। एचएयू के वीसी प्राेफेसर बीअार काम्बाेज ने बताया कि जल्द ही प्रदेश के दाे और स्थानाें पर सामुदायिक रेडियाे स्टेशन खाेले जाएंगे। इसके लिए आईसीएआर के अधिकारियाें के साथ पत्राचार चल रहा है। हालांकि अभी किन दाे जिलाें में सामुदायिक रेडियाे स्टेशन स्थापित किए जाने हैं, इसका चयन नहीं किया गया है। जल्द ही चयन कर रेडियाे स्टेशन स्थापित किए जाएंगे।

सामुदायिक रेडियाे स्टेशन से ये कार्यक्रम होंगे प्रसारित

एचएयू के सह निदेशक विस्तार डाॅ. कृष्ण यादव के अनुसार सामुदायिक रेडियाे स्टेशनाें पर किसानों को फसलों की उन्नत किस्मों के साथ-साथ उनकी बिजाई संबंधी जानकारी, बीमारियों व कीटों और समाधान, मौसम संबंधी, विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों की सलाह, पशुपालन एवं गृह विज्ञान संबंधी नवीनतम जानकारी दी जाएगी। सामुदायिक रेडियो स्टेशनों के प्रसारणों का कृषि विकास में महत्वपूर्ण योगदान होगा। इन स्टेशनों पर किसानों को ध्यान में रखकर कार्यक्रम प्रसारित किए जाएंगे। ये रेडियो स्टेशन स्थानीय संस्कृति, कला एवं ज्ञान को भी बढ़ावा देंगे।

एचएयू में 2009 में स्थापित किया था सामुदायिक रेडियाे स्टेशन
एचएयू द्वारा रेडियो स्टेशन हरियाणा सरकार की राष्ट्रीय कृषि विकास योजना व आत्मा स्कीम के तहत स्थापित किए हैं। विश्वविद्यालय में सबसे पहले 29 नवंबर 2009 को सामुदायिक रेडियो स्टेशन की स्थापना की गई और एफएम 91.2 मेगाहर्टज पर कार्यक्रम प्रस्तुत करने शुरू कर दिए। इन रेडियो स्टेशन से दिन में दो बार सुबह साढ़े 9 से साढ़े 11 बजे तथा दोपहर ढाई बजे से शाम साढ़े 4 बजे कृषि पशुपालन, सरकारी योजनाओं, मौसम संबंधी जानकारी व स्थानीय कलाकारों द्वारा हरियाणवी संस्कृति कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं।

किसानों को कृषि संबंधी हर प्रकार की जानकारी मिलेगी
रेडियो स्टेशनों के स्थापित होने के बाद किसानों व वैज्ञानिकों के संबंध अधिक घनिष्ठ होंगे। किसानों को कृषि संबंधी हर प्रकार की जानकारी मिलती रहेगी। आईसीएआर से हरी झंडी मिलते ही सामुदायिक रेडियाे स्टेशनाें काे स्थापित कर दिया जाएगा।- डाॅ. बीआर काम्बाेज, वीसी, एचएयू।

खबरें और भी हैं...