कांग्रेस की महिला नेता की हत्या का मामला:आरोपी भाई के साले ने किया मृतका का अंतिम संस्कार, सिर में दाई तरफ तेजधार हथियार के तीन वार

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतका नीलू सिक्का - Dainik Bhaskar
मृतका नीलू सिक्का

सेक्टर 14 में भाई द्वारा डंडे से पीट-पीटकर कांग्रेस नेता बहन की हत्या मामले में दोपहर दो बजे तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। पुलिस इंतजार करती रही लेकिन मृतका नीलू सिक्का का कोई भी रिश्तेदार या जानकार अस्पताल में नहीं आया। परिजनों के नहीं आने के कारण पोस्टमार्टम की कार्रवाई नहीं हो पाई। इसके बाद करीबन तीन बजे आरोपी नीरज का साला गांधी बूथ वासी नमीश अस्पताल में पहुंचा। नमीश ने आगामी कार्रवाई के लिए सहमति दी जिसके बाद मृतका नीलू का पोस्टमार्टम शुरू हो सका। पोस्टमार्टम के बाद नमीश ने ही शव को क्लेम करके श्मशान घाट में उसका अंतिम संस्कार करवाया। पुलिस ने इस मामले में कांस्टेबल राहुल की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज किया हुआ है। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार मृतका नीलू सिक्का के सिर में दाईं तरफ तेजधार हथियार के तीन निशान हैं। चोट के निशान इतने गहरे हैं कि दिमाग का आधा हिस्सा तक बाहर निकला हुआ है। गंभीर चोट व ज्यादा खून बहने के कारण नीलू सिक्का की मौत हुई है। पुलिस के अनुसार देर रात उनकी टीम को सूचना मिली की सेक्टर 14 के मकान नं 1759 में विवाद हो गया है। इसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो नीलू सिक्का घर में सीढि़यों के पास बेहोश मिली। घायल अवस्था में नीलू सिक्का को अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां पर डॉक्टर्स ने उसको मृत घोषित कर दिया।

आरोपी नीरज
आरोपी नीरज

पड़ोसी भी शिकायतकर्ता बनने को तैयार नहीं
मृतका नीलू सिक्का के माता-पिता की मौत हो चुकी है और उसका अपने ससुरालवालों से भी विवाद चल रहा था। इस मामले में अभी तक कोई पड़ोसी भी शिकायतकर्ता बनने के लिए तैयार नहीं हुआ। मृतका की तीसरी शादी जालंधर के किसी डॉक्टर के साथ हुई थी और उसके साथ भी कोर्ट केस चल रहा है जिस कारण से वह भी इस हत्याकांड में शिकायतकर्ता नहीं बने।

घटनास्थल जहां पर हत्या हुई
घटनास्थल जहां पर हत्या हुई

नीलू सिक्का की डंडे से पीट-पीटकर की गई हत्या

सेक्टर 14 में 32 वर्षीय नीलू सिक्का की बुधवार देर रात को उसी के भाई नीरज सिक्का से डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। बताया जा रहा है कि नीलू सिक्का का प्रोपर्टी को लेकर अपने सगे भाई नीरज के साथ अक्सर विवाद होता था। नीलू सिक्का कांग्रेस में महिला सैल की सचिव थी। इसके अलावा वह शहर के सामाजिक कार्यक्रमों में एक्टिव रहती थी।

खबरें और भी हैं...