पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परिजनों ने किया हंगामा:निजी अस्पताल में महिला की मौत, परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाया

हिसार18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
निजी अस्पताल में महिला की मौत के बाद विलाप करता बेटा और मौजूद पुलिस। - Dainik Bhaskar
निजी अस्पताल में महिला की मौत के बाद विलाप करता बेटा और मौजूद पुलिस।
  • मेडिकल नेगलिजेंस बोर्ड करेगा जांच, अस्पताल संचालक बोले - नहीं बरती लापरवाही
  • पुलिस ने पोस्टमार्टम करवा विसरा लैब में भिजवाया

जिंदल अस्पताल रोड स्थित निजी अस्पताल में उपचाराधीन गंभीर एनीमिया ग्रस्त महिला रोगी 45 वर्षीय सपना की मौत पर परिजनों ने हंगामा किया। इसकी सूचना मिलने पर अर्बन एस्टेट थाना पुलिस ने पहुंचकर दिवंगत के परिजनों को शांत करवाया।

मृतका के पति राजाराम ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। इनके बयान लेकर पुलिस ने सिविल अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर विसरा जांच के लिए लैब में भिजवा दिया है। इस मामले में मेडिकल नेगलिजेंस बोर्ड जांच करके अपनी रिपोर्ट देगा। इस मामले में अस्पताल संचालक ने आरोपों को निराधार बताया है।

पुलिस को राजाराम ने बताया कि पत्नी सपना के घुटनों में दर्द था। इसके ब्लड टेस्ट करवाए थे जिसमें चार ग्राम हिमोग्लोबिन था। इसे उपचार के लिए शनिवार को रविंद्रा अस्पताल में लेकर आए थे।

यहां पर दिन के समय एक यूनिट खून चढ़ा दिया था। इसके बाद एक यूनिट खून रात को चढ़ाया था, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। हमने खून न चढ़ाने के लिए कहा था लेकिन अस्पताल के डॉक्टर व स्टाफ ने हमारी नहीं सुनी। रविवार सुबह उसने दम तोड़ दिया।

सपना की मौत से बिफरे परिजनों ने हंगामा किया। विवाद बढ़ता देखकर अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को बुला लिया। अस्पताल संचालक डॉ. रविंद्र कुमार गुप्ता का कहना है कि हमें पेशेंट की मौत का दुख है। महिला गंभीर एनीमिया ग्रस्त थी।

सिर्फ चार ग्राम खून था। शनिवार को एक यूनिट खून चढ़ाने के बाद रात को दूसरी यूनिट खून चढ़ाया था। तब पेट में दर्द होने पर खून चढ़ाना बंद करके दवा दी थी। रविवार सुबह करीब 9-10 बजे तक वह ठीक थी। राउंड पर मौजूद डॉक्टर ने जांच की थी। इसके करीब आधे घंटे बाद उसने दम तोड़ा था।

खबरें और भी हैं...