पानी से बर्बाद फसलों के मुआवजे की मांग:ओटू हेड से घग्गर में पानी छोड़े जाने से नाराज किसानों ने सिरसा-रानियां हाईवे किया जाम

रानियां3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ओटू हेड पर सिरसा-रानियां स्टेट हाईव जाम कर नारेबाजी करते किसान। - Dainik Bhaskar
ओटू हेड पर सिरसा-रानियां स्टेट हाईव जाम कर नारेबाजी करते किसान।

खंड के गांव ओटू हेड पर बहने वाली घग्गर नदी की धार में पानी छोड़े जाने से किसानों की डेढ़ सौ एकड़ से अधिक फसल जलमग्न हो गई। जिससे नाराज किसानों ने ओटू हैड पर सिरसा रानियां स्टेट हाइवे जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलने पर रानियां थाना प्रभारी साधुराम व नहर विभाग के एसडीओ ने मौके पर पहुंचे। प्रदर्शन कर रहे किसानों में जसकरण सिंह, चरणजीत सिंह, हरविंदर सिंह, देवेंद्र सिंह, भूपेंद्र सिंह ने बताया कि घग्गर में पानी आने के बाद विभाग के अधिकारियों ने अधिक मात्रा में पानी आगे छोड़ दिया। जिससे घग्गर धार में खेती करने वाले किसानों की सारी फसलें जलमग्न हो गई।

घग्गर धार में आने वाली डेढ़ सौ एकड़ से अधिक खेतों में पानी आने से किसानों की मटर, लहसुन, सरसों, गेहूं की फ सल जलमग्न हो गई। किसानों का आरोप है कि जानबूझकर विभाग के अधिकारी घग्गर धार में खेती करने वाले किसानों की फ सलों को पानी छोड़ कर बर्बाद कर रहे हैं। किसानों ने पानी से खराब हुई फ सलो के मुआवजे की मांग की है। वहीं किसानों की मांग है कि पानी छोडऩे के दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए किसानों ने लिखित में एसडीओ को एक शिकायत पत्र दिया। नाराज किसानों ने सिरसा रानियां मार्ग पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना मिलने के बाद नहर विभाग के एसडीओ व रानियां थाना प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझाया।

खबरें और भी हैं...