ऑक्सीजन में बढ़ोतरी:नगर पालिका ने दी 4 एकड़ जगह, पौधारोपण कर वन विभाग बनाएगा प्राकृतिक ऑक्सीजन प्लांट

रतिया19 दिन पहलेलेखक: बलदेव बरेटा
  • कॉपी लिंक
  • ज्यादा ऑक्सीजन देने वाले पौधे लगाए जाएंगे, कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हुई ऑक्सीजन कमी से लिया सबक

वन विभाग द्वारा जाखन दादी में ऑक्सीजन में बढ़ोतरी करने के लिए ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा। इस प्लांट में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन देने वाले पौधे लगाए जाएंगे। प्लांट के लिए नगर पालिका ने वन विभाग को 4 एकड़ जगह दी है। काम जल्दी शुरू हो इसके लिए नगर पालिका ने कागजी कार्रवाई कर जगह वन विभाग के सुपुर्द कर दी। अब वन विभाग इस जगह पर पौधे लगाकर ऑक्सीजन पैदा करेगा। इस जगह पर वन विभाग ऑक्सीजन जनरेट करने वाले पौधे लगाएगा।

इन पौधों में पीपल, बरगद, बेलगिरी, नीम, अशोका ईमली, अनार, आंवला, केला, एरेका पाम, मनी प्लांट, एलोवेरा, अर्जुन, आम, जामुन, तुलसी जैसे पौधों को शामिल किया गया है। पौधों की व्यवस्था वन विभाग अपनी नर्सरियों से करेगा। पौधों की देखभाल की जिम्मेवारी भी वन विभाग की होगी। ऑक्सीजन में ऐसे पौधे लगाए जाएंगे तो जल्द पेड़ का रूप लें। हालांकि नगर पालिका ने अभी चार एकड़ जगह वन विभाग को दी है लेकिन उसके पास पड़ी खाली जगह भी इसमें शामिल करने पर विचार चल रहा है ताकि ज्यादा पौधे लगाकर ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाया जा सके।

विभाग का कहना है कि इससे ऑक्सीजन की मात्रा बढऩे से लोगों को सांस लेने में आसानी होगी। ये पौधे कार्बन डाईऑक्साइड को लेते है और ऑक्सीजन छोड़ते हैं। ये पौधे हलकी रोशनी व कम पानी में भी उग जाते हैं। ऑक्सीजन को लेकर फाइल रतिया से डीएफओ कार्यालय में भेज दी।

प्लान बनाकर फाइल कार्यालय में भेज दी-ब्लॉक ऑफिसर
वन विभाग के ब्लाक ऑफिसर अमी लाल ने बताया कि जगह का जायजा लेकर फाइल डीएफओ कार्यालय में भेज दी है। नगर पालिका ने ऑक्सीजन प्लांट के लिए कुल 4 एकड़ जगह सौंपी है। इस जगह पर ऑक्सीजन जनरेट करने वाले पौधे लगाए जाएंगे। पौधों को लगाने व देखभाल का काम वन विभाग करेगा।
हमने वन विभाग को जगह दे दी है-सचिव
शहर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाने के लिए ऑक्सीजन प्लांट बनाने का प्लान है। पौधों के माध्यम से ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाई जाएगी। इसके लिए वन विभाग को जाखन दादी में 4 एकड़ जगह दी गई है। वन विभाग काे प्लांट का काम जल्द शुरू करने के लिए कहा गया है। -पंकज कुमार, सचिव, नगर पालिका।

खबरें और भी हैं...