एसडीएम ने लिया जायजा:पुल के नीचे बहाव में बाधा होने से मुंशीवाला माइनर टूटी, 200 एकड़ में फसल जलमग्न

रतिया10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गांव अहरवां में मंगलवार अलसुबह गांव से गुजरने वाली मुंशीवाला माइनर में टूट गई। जिससे गांव में करीब 30 किसानों की 200 एकड़ गेहूं व चारे की फसल में पानी घुस गया। सूचना मिलने पर एसडीएम सुरेंद्र बैनीवाल, सिंचाई विभाग के एसडीओ बलराज सिंह, जेई संजय पवार मौके पर पहुंचे। विभाग ने किसानों की मदद से करीब 10 घंटे बाद कटाव बंद किया। इस दौरान पास में ही अन्य जगह पर भी रिसाव हो गया था, वहां पर भी मरम्मत की।

एसडीएम सुरेंद्र बैनीवाल ने माइनर में कटाव आने को लेकर सिंचाई विभाग से जवाब मांगा है। वहीं निर्देश दिए हैं कि नहरों व माइनर पर जहां-जहां कमजोर किनारे हैं, उसकी जानकारी एकत्र की जाए। गांव अहरवां के बीच से गुजरने वाली मुंशीवाला माइनर की क्षमता 80 क्यूसिक पानी की है। इन दिनों पानी की डिमांड कम है। जिसके माइनर में तकरीबन पूरा पानी चल रहा था। माइनर के किनारे कई जगह कमजोर व क्षतिग्रस्त हैं।

वहीं पुल के नीचे से पानी का बहाव ज्यादा होने से निकासी नहीं हो पाई, जिससे हाइवे के पास माइनर में करीब 80 फुट का कटाव हो गय। किसान गुरविंद्र सिंह, बलविंद्र सिंह, मनजिंद्र सिंह व बलदेव सिंह ने बताया कि सुबह खेतों की तरफ आए तो पानी भरा था। सूचना गांव के सरपंच जसवंत सिंह व सिंचाई विभाग को दी। इससे किसान रणजीत सिंह, गुरतेज सिंह, नरेंद्रपाल, कशमीर सिंह, कुलवंत सिंह आदि किसानों के खेतों में पानी भर गया। किसानों ने पराली की गांठें व मिट्टी से कटाव को कम किया।

प्रशासन ने पानी निकासी के लिए भेजे खराब पंप

ढाणियों के आसपास भरे पानी की निकासी को लेकर प्रशासन ने दो पंप भेजे। दोनों पंपों के काम न करने पर किसानों ने नारेबाजी कर रोष जताया बाद में किसानों ने खुद के पंप लाकर पानी को निकाला।

पंप किस विभाग ने भेजे जांच करवाएंगे-एसडीएम

एसडीएम सुरेंद्र बैनीवाल ने इस मामले में जांच के आदेश दिये है। एसडीएम ने कहा कि पता किया जाएगा कि खराब पंप कैसे पहुंचे। संबधित अधिकारियों से जवाब मांगा जाएगा।

कमजोर किनारों को ठीक करवाएंगे -एसडीओ

पुल के नीचे पानी के बहाव में बाधा आने से कटाव हुआ। अब निगरानी बढ़ा दी है। बंदी के दौरान कमजोर किनारों को ठीक करवा दिया जाएगा। -बलराज सिंह, एसडीओ, सिंचाई विभाग।

खबरें और भी हैं...