• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sirsa
  • 10 Thousand Rupees Bribe Was Sought From 2 Youths Going Abroad To Give Certificates Without Vaccination, Doctor Arrested

डॉक्टर पर कार्रवाई:टीका लगाए बिना सर्टीफिकेट देने के लिए विदेश जाने वाले 2 युवकों से मांगी थी 10 हजार रुपये रिश्वत, डॉक्टर गिरफ्तार

सिरसा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पॉश हुडा डिस्पेंसरी में कोरोना के फर्जी सर्टिफिकेट जारी करने की एवज में रिश्वत लेते डॉक्टर को विजिलेंस टीम ने पकड़ा

शहर की पॉश हुडा डिस्पेंसरी में कोविड- 19 के फर्जी सर्टिफिकेट जारी करने की एवज में रिश्वत लेते सरकारी डॉक्टर को विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी से विजिलेंस टीम ने रिश्वत के रूप में ली गई 10 हजार रुपये की नकदी भी बरामद की है। सरकारी डॉक्टर के खिलाफ इस कार्रवाई ने विभाग की कार्य प्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिया है।

आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। विजिलेंस को शिकायत मिली थी कि एमबीबीएस डाॅक्टर जोकि हुडा डिस्पेंसरी में पिछले कई साल से मेडिकल ऑफिस तैनात है। जहां बिना टीकाकरण सर्टिफिकेट जारी करने की एवज में रिश्वत मांगी गई। 2 युवक उन्हें विदेश जाना था उनसे 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी गई।्

खैरेका निवासी युवक निखिल की शिकायत पर विजिलेंस टीम ने कार्रवाई कर गुरुवार शाम को सिविल अस्पताल में सीएमओ कार्यालय से हुडा डिस्पेंसरी के एमओ डॉ. इन्द्रजीत को रिश्वत राशि सहित काबू कर लिया। विजिलेंस की इस कार्रवाई ने स्वास्थ्य विभाग में खलबली मचा दी।

पीडि़त बोला- कनाडा जाना था, इसलिए लगवाने गया था टीका

पीड़ित युवक निखिल कुमार ने बताया कि उसने कनाडा जाना था। वह अपने दोस्त के साथ पिछले शुक्रवार को हुडा डिस्पेंसरी में कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण कराने पहुंचा था। जहां तैनात डाॅ. इन्द्रजीत ने उन्हें कहा कि वैक्सीन की कमी है। साथ ही टीकाकरण करवाने के बाद उन्हें नुकसान होगा। उनकी मौत भी हो सकती है। इसलिए वे टीकाकरण न करवाएं।

आरोप है कि डाक्टर ने उनसे बिना टीकाकरण करवाए सर्टिफिकेट जारी करने के लिए 5 हजार रुपये प्रति युवक मांगे। जिसकी शिकायत उन्होंने विजीलेंस को शिकायत दी। गुरूवार को वे सर्टीफिकेट लेने पहुंचे और डाक्टर इन्द्रजीत को रिश्वत राशि 10 हजार रुपये दी। इसके बाद विजिलेंस टीम ने छापेमारी कर डाॅक्टर को रंगे हाथों काबू कर लिया।

रिश्वत राशि के साथ काबू किया डॉक्टर : विजिलेंस इंस्पेक्टर

शिकायत पर डाॅक्टर इन्द्रजीत को रिश्वत राशि 10 हजार रुपये सहित रंगे हाथों काबू किया है। आगामी कार्रवाई की जा रही है। मामले की गंभीरता से जांच की जाएगी।'' -अनिल सोढ़ी, विजिलेंस इंस्पेक्टर।

खबरें और भी हैं...