पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नियमों का पालन कर अमन चैन की मांगी दुआ:ईदगाह में 15-20 नमाजियों ने मास्क पहन नमाज अदा की

सिरसा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रानियां रोड स्थित ईदगाह में ईद उल अजहा की नमाज अदा करते लोग। - Dainik Bhaskar
रानियां रोड स्थित ईदगाह में ईद उल अजहा की नमाज अदा करते लोग।

बकरीद (ईद-उल-अजहा) त्यौहार बुधवार को मनाया। कोरोना को देखते हुए लोगों ने घरों पर ही नमाज अदा की। हालांकि इमामों ने भी लोगों से कोरोना को लेकर सरकार की ओर से जारी गाइडलाइनों का पालन करते हुए घर पर ही सामाजिक दूरी बनाते हुए बकरीद की नमाज अदा करने के लिए कहा था।

ईद-उल-अजहा के मुबारक दिन पर मुस्लिम समुदाय के लोगों में भी कोविड-19 महामारी नामक ग्रहण का साया रहा। क्योंकि एक वर्ष के इन्तजार के बाद ईदगाहों / मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज अदा करने और हर तरह के बैर भेद भाव भूलाकर एक-दूसरे से गले मिलकर हर्षोल्लास से मनाया जाने वाला कुर्बानी के त्यौहार में भी कोविड-19 महामारी के कारण ईदगाहों व मस्जिदों की बजाय ज्यादा तर लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की।

हरियाणा मुस्लिम खिदमत सभा के जिला अध्यक्ष ताज मोहम्मद ने बताया कि मुस्लिम समाज के ज्यादातर लोगों ने घरों में ही ईद की नमाज अदा की। गिने-चुने लोगों ने ही मस्जिदों वह ईदगाहों में नियमानुसार मास्क पहनकर, सोशल डिस्टेंस और 15 से 20 लोगों के साथ ही ईद की नमाज अदा की। उन्होंने प्रदेश वासियों को ईद-उल-अजहा की मुबारकबाद देते हुए अपील की महामारी से बचने के लिए घरों में रहें, मास्क लगाकर रखें, साबुन से हाथ धोते रहें, सेनिटाइजर का उपयोग करते रहें, दो गज दूरी बना कर रखें और सुख शान्ति के लिए दुआएं करते रहें।

जिला अध्यक्ष ताज मोहम्मद ने सभी से कहा कि जिन्होंने वैक्सीन की डोज नहीं ली है । वह जल्द से जल्द वैक्सीनेशन करवा लें। यही सच्ची कुर्बानी/बलिदान है। आप स्वस्थ होंगे तो देश स्वस्थ होगा। वहीं बकरीद त्यौहार को मनाने के लिए लोगों ने मंगलवार को ही बाजारों में खरीददारी की। रानियां रोड स्थिति ईदगाह, सदर बाजार स्थित जामा मस्जिद व अन्य मस्जिदों में सोशल डिस्टेसिंग के साथ नमाज अदा की।

खबरें और भी हैं...