परेशानी / 239 सफाई कर्मचारी आज लौटेंगे काम पर सिटी की सड़कों-घरों में पड़ा है 180 टन कूड़ा

सिरसा। शहर में सफाई कर्मियों की हड़ताल से बिगड़ी सफाई व्यवस्था। सिरसा। शहर में सफाई कर्मियों की हड़ताल से बिगड़ी सफाई व्यवस्था।
X
सिरसा। शहर में सफाई कर्मियों की हड़ताल से बिगड़ी सफाई व्यवस्था।सिरसा। शहर में सफाई कर्मियों की हड़ताल से बिगड़ी सफाई व्यवस्था।

  • सफाई कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल से बिगड़ी शहर की सफाई व्यवस्था

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सिरसा. कोरोना से मृत्यु होने पर कर्मचारी के परिवार को 50 लाख रुपये की विशेष आर्थिक सहायता व नौकरी दिए जाने व अन्य मांगों को लेकर नगरपरिषद के तहत 239 सफाई कर्मचारी दो दिवसीय हड़ताल पर चले गए। जिससे मंगलवार को लगातार दूसरे दिन भी शहर में सफाई नहीं हो पाई। इसके दौरान शहर की गली- मोहल्लों में करीब 180 टन कूड़ा जमा हो गया। इससे शहर में गंदगी का आलम हो गया है। कॉलोनियों और मुख्य रोड पर रखे गए कूड़ेदान भी भर चुके हैं। वातावरण में बदबू फैलने लगी है। 

नगरपरिषद के तहत शहर में 239 सफाई कर्मचारी तैनात हैं। यह कर्मचारी शहर की गली मोहल्लों से रोजाना 90 टन से ज्यादा कूड़ा एकत्रित करते हैं। लेकिन पिछले दो दिनों से सफाई कर्मचारियों ने अपनी मांगों के समर्थन में हड़ताल पर हैं, तो शहर की सफाई व्यवस्था चरमरा गई। हालांकि डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन एजेंसी की गाड़ियां पहुंची। जिसमें लोगों ने सूखा- गीला कूड़ा डाला। लेकिन नप कर्मचारियों ने कामकाज ठप रखा।

इन मांगों को लेकर हड़ताल में शामिल हुए सफाई कर्मचारी
कोरोना महामारी से मृत्यु होने पर कर्मचारी के परिवार को 50 लाख रुपये की विशेष आर्थिक सहायता राशि व नौकरी दी जाए। पांच हजार रुपये जोखिम भत्ता दिया जाए। सभी कच्चे कर्मचारियों को 2 वर्ष के अनुभव के आधार पर पक्का किया जाए। ठेका प्रथा समाप्त कर सफाई कर्मचारियों, सीवरमैनों, फायर कर्मचारियों, तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को विभाग रोल पर रखने, छंटनी किए गए कर्मचारियों को ड्यूटी पर बहाल किया जाए।

नए पद सृजित किए जाएं, 1250 सफाई कर्मचारी व 1000 सीवरमैन और चतुर्थ व तृतीय श्रेणी के पदों पर नियमित भर्ती की जाए मांगें शामिल हैं। सर्व कर्मचारी संघ के जिला सचिव राजेश खीचड़ ने बताया कि आज कर्मचारी काम पर लौटेंगे। लेकिन उनकी मांगों पर सरकार ने गौर नहीं फरमाया, तो आगामी 6 और 7 जून को फिर से हड़ताल पर चले जाएंगे। इसके बावजूद कर्मचारियों की मांगें नहीं मानी गई, तो हड़ताल अनिश्चितकालीन हो सकती है।

आज बहाल हो सकेगी व्यवस्था
अपनी मांगों के समर्थन में सफाई कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से शहर की सफाई व्यवस्था बिगड़ी है। हालांकि डोर- टू- डोर एजेंसी की गाड़ियां संचालित थी। आज से सफाई कर्मचारी काम पर लौट आएंगे। जिससे शहर की सफाई व्यवस्था बहाल हो सकेगी।'' -जोगेंद्र सिंह, सफाई निरीक्षक, नगरपरिषद सिरसा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना