पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंडी में चोर गिरोह सक्रिय:आढ़तियान एसो. का फैसला, चोरी के मामले सुलझाए पुलिस, वरना 3 दिन बाद मंडी बंद

सिरसा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिरसा। अनाज मंडी में बढ़ते चोरी के मामलों में कोई कार्रवाई न होने से रोषित आढ़ती बैठक करते हुए। - Dainik Bhaskar
सिरसा। अनाज मंडी में बढ़ते चोरी के मामलों में कोई कार्रवाई न होने से रोषित आढ़ती बैठक करते हुए।
  • तीन सालों में 34 वारदातों ने लगाया पुलिस सुरक्षा पर सवालिया निशान

जिला में बढ़ती चोरियों के खिलाफ लोगों में पुलिस के खिलाफ रोष है तो वहीं चोरी के मामलों में कोई कार्रवाई न होने के चलते आढ़तियों ने भी रविवार को पुलिस प्रशासन के खिलाफ बैठक करके रोष जताया। आढ़तियों ने बैठक में फैसला लिया की जल्द ही पुलिस प्रशासन चोरी के मामलों को नहीं सुलझाती तो तीन दिन बाद अनाज मंडी बंद करेंगे। आढ़तियों ने कहा कि जिला में पिछले दो सालों में 34 वारदातों को अंजाम दिया है। चोरों के हौंसले बुलंद हैं।

लॉकडाउन में मोबाइल दुकानों, करियाना व सरसों, ग्वार, गेहूं के गोदामों में ताले तोड़कर चोरों ने लाखों रुपये के सामान पर हाथ साफ किया है। लेकिन अभी तक पुलिस प्रशासन कोई भी चोरी की गुत्थी को सुलझा नहीं पाई है। जिसके चलते अनाज मंडी में बढ़ते चोरी के मामलों में कोई कार्रवाई न होने से आढ़तियों ने रोष व्यक्त किया।

रोषित आढ़तियों ने दि आढ़तियान एसोसिएशन अनाज मंडी के प्रधान हरदीप सरकारिया की अध्यक्षता में एसोसिएशन कार्यालय में बैठक की। बैठक को संबोधित करते हुए एसोसिएशन प्रधान हरदीप सरकारिया ने कहा कि अनाज मंडी में निरंतर चोरियां हो रही है और पुलिस प्रशासन आंखें मूंदे बैठा है। जिसके चलते सभी आढ़तियों में रोष है।

इन मामलों में नहीं हुई कोई कार्रवाई

सरकारिया ने कहा कि हाल ही में 3 जून की रात्रि को फूलचंद मुकेश कुमार फर्म के 127 बैग ग्वार चोरी हुई। 4 जून को शहर थाना में मामला भी दर्ज हुआ, लेकिन अभी तक उस मामले में कोई भी कार्रवाई नहीं हुई। 7 अप्रैल 2018 को फूलचंद मुकेश कुमार फर्म के 70 बैग सरसों, 16 फरवरी 2020 व 24 फरवरी 2020 को अमर ट्रेडिंग कंपनी के 50-50 बैग ग्वार, 2 जुलाई 2020 को बाल कृष्ण फर्म के 45 बैग ग्वार, 19 फरवरी 2021 को गिरधारी लाल राजेंद्र कुमार फर्म के 54 बैग धान, 23 फरवरी 2021 को सुरेश कुमार राजेंद्र कुमार फर्म के 75 बैग सरसों चोरी हुए, लेकिन आज तक इन मामलों में कोई कार्रवाई नहीं हुई।

वर्ष 2019 में कपास मंडी में एक साथ 27 दुकानों के ताले टूटे थे, उसमें भी पुलिस के हाथ खाली है। ऐसे में अनाज मंडी में आढ़ती स्वयं को कैसे सुरक्षित महसूस करें। हरदीप सरकारिया ने कहा कि पुलिस प्रशासन के खिलाफ आढ़तियों में रोष है और तीन दिनों में अगर उक्त मामलों में कार्रवाई नहीं की गई तो अनाज मंडी सिरसा पूर्ण रूप से बंद कर दी जाएगी। इस बैठक में उप प्रधान सुधीर ललित, वरिष्ठ आढ़ती मनोहर मेहता, धान एसोसिएशन प्रधान गौरव गोयल, अनिरूद्ध, दीपक तायल, विपन बांसल, सुरेश कुमार, मुकेश गोयल, अश्वनी मैहता, बाल किशन, मुनीष कालड़ा मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...