आरोपी कंडक्टर हेमंत पारिक को ड्यूटी से हटाया:पुरानी टिकटें बस में सवारियों को बेच विभाग को चपत लगाने वाले कंडक्टर को फ्लाइंग ने रंगे हाथों पकड़ा

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोडवेज ट्रैफिक ब्रांच में कंडक्टर के फ्राड मामले की जांच करते हुए फ्लाइंग टीम। - Dainik Bhaskar
रोडवेज ट्रैफिक ब्रांच में कंडक्टर के फ्राड मामले की जांच करते हुए फ्लाइंग टीम।
  • सवारियों से वापस लेता था टिकटें, फिर इन्हीं पर लोगों को कराता था सफर, जीएम ने किया कंडक्टर को सस्पेंड

पुरानी टिकटें बस में सवारियों को बेचकर विभाग को चपत लगाने वाले एक कंडक्टर को बस फ्लाइंग ने मंगलवार दोपहर बस स्टैंड में रंगे हाथों दबोचा। जांच में कंडक्टर के कब्जे से 13332 रुपये की पुरानी ( पहले से इस्तेमाल ) टिकटें व 12297 रुपये का अतिरिक्त कैश बरामद किया गया है। जिसको डिपो जीएम आरएस पूनिया ने गबन के आरोप में तुरंत प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है ।

पकड़ा गया कंडक्टर हेमंत पारिक डबवाली सब डिपो में कार्यरत है और सिरसा से डबवाली बस पर ड्यूटी दे रहा था। मंगलवार दोपहर को सवा 12 बजे बस सिरसा पहुंची। जहां बस स्टेंड में सवारियां बस से उतर रही थी, तो इस दौरान विभागीय टीम को कंडक्टर की गतिविधियों पर संदेह हो गया। क्योंकि कंडक्टर सवारियों से पुरानी टिकटें एकत्रित कर रहा था।

इसके बाद एसएस रतनलाल के नेतृत्व में बस फ्लाइंग इंचार्ज सब इंस्पेक्टर सुभाष, अनूप, सूरतमल व सेवा सिंह पर आधारित टीम ने कंडक्टर की टिकटें जांच की। उसके बैग व बक्से की जांच की गई। एसएस रतन लाल ने बताया कि बैग व बक्से की जांच में 13332 रुपये की पुरानी टिकटें व 12297 रुपये का ज्यादा कैश बरामद हुआ। चेकिंग के बाद कंडक्टर हेमंत पारिक को तुरंत ड्यूटी से हटा लिया गया। विभागीय टीम ने पूरे मामले की रिपोर्ट जीएम आरएस पुनिया को सौंपी।

कंडक्टर बोला- यात्रियों को दे रहा था बकाया

आरोपी कंडक्टर हेमंत पारिक ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि वह डबवाली से बस लेकर पहुंचा था । जहां उतरने वाली सवारियों को उनका बकाया लौटा रहा था । लेकिन इस दौरान फ्लाइंग टीम ने एकत्रित टिकटें और थैले में अतिरिक्त कैश को जब्त कर लिया । जिसके लिए उसे दोषी ठहराया गया है। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए ।

13332 रुपये की पुरानी टिकटें बरामद

बस कंडक्टर हेमंत पारिक यात्रियों से पुरानी टिकटें एकत्रित कर रहा था। फ्लाइंग ने उसके थैले को जांचा, तो उसमें 13332 रुपये की पुरानी टिकटें बरामद हुई । संदेह है कि इन टिकटों को यात्रियों से वापस लेकर दोबारा बेचा जाता था । क्योंकि यह टिकटें बक्से से मिस मैच हैं । यह कंडक्टर सवारियों को टिकट देकर उतरने के बाद वापस लेता था और इन्हीं टिकटों पर लोगों को सफर करवाता था। यही कारण है कि डबवाली से आते समय उसने फ्राड किया था, इसलिए उसके थैले में अतिरिक्त कैश पाया गया । आरोपी कंडक्टर हेमंत पारिक को ड्यूटी से हटा दिया गया है। फ्राड के आरोप में उसे सस्पेंड किया गया है।'' -आरएस पूनिया, जीएम रोडवेज डिपो, सिरसा।

खबरें और भी हैं...