पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिसाब किताब लेकर इंस्पेक्टर गायब:1.60 करोड़ जुर्माना राशि का हिसाब-किताब लेकर हेल्थ इंस्पेक्टर 8 दिन से गायब, एसपी को लिखा पत्र

सिरसा23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अब सीएमओ ने एसपी को पत्र लिखकर दोबारा चालान बुक का रिकार्ड मांगा है। जिससे पता लग सके कितनी राशि हेल्थ इंस्पेक्टर के पास जमा करवाई गई थी। - Dainik Bhaskar
अब सीएमओ ने एसपी को पत्र लिखकर दोबारा चालान बुक का रिकार्ड मांगा है। जिससे पता लग सके कितनी राशि हेल्थ इंस्पेक्टर के पास जमा करवाई गई थी।
  • सिरसा में बगैर मास्क घूमने वाले 32 हजार लोगों के काटे चालान

जिले में कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव के प्रयासों में बगैर मास्क लोगों के चालान काटकर वसूले गए करीब डेढ करोड़ रुपये की जुर्माना राशि का हिसाब किताब लेकर 8 दिनों से गैरहाजिर चल रहे हेल्थ इंस्पेक्टर के मामले में अब सीएमओ ने एसपी को पत्र लिखकर दोबारा चालान बुक का रिकार्ड मांगा है। जिससे पता लग सके कितनी राशि हेल्थ इंस्पेक्टर के पास जमा करवाई गई थी।

इधर सीएमओ मनीष बंसल का कहना है कि उसे कई बार नोटिस दिए जवाब भी नहीं मिला और वह 8 दिन गैर हाजिर चल रहा है। सिरसा के डीसी प्रदीप कुमारअगर ऐसी बात है तो यह बहुत ही गंभीर मामला है। इसकी पूरी रिपोर्ट सीएमओ से लेकर आगामी एक्शन लिया जाएगा। बता दें कि अस्पताल के स्टोर में तैनात हेल्थ इंस्पेक्टर ने अकाउंट ब्रांच को पेमेंट तो क्या रसीद बुक तक का हिसाब नहीं दिया है।

विभाग को इतना भी मालूम नहीं है कि कितनी रसीद बुक छप चुकी हैं और कितनी पेमेंट जमा हो सकी है। उक्त अधिकारी को पांच बार कारण बताओ नोटिस जारी किए जा चुके हैं, मगर वह रिकार्ड और बिना चार्ज दिए ड्यूटी से नदारद हो गया है। मामले की जांच में लाखों रुपये की राशि के गबन का खुलासा होने के आसार हो गए हैं।

हेल्थ इंस्पेक्टर को पांच नोटिस दिए

कोरोना की पहली लहर के दौरान लॉकडाउन में चालान काटने की जिम्मेदारी पुलिस को सौंपी गई, जबकि पेमेंट हेल्थ डिपार्टमेंट के 2210 हेड में जमा करवाने का प्रावधान था। तत्कालीन सिविल सर्जन की ओर से रसीद बुक छपवाने और पेमेंट की जिम्मेदारी विभाग के एक हेल्थ इंस्पेक्टर को सौंपी थी।

ट्रैफिक पुलिस ने रसीद बुक के हिसाब से पेमेंट जमा करवाई, लेकिन जिस हेल्थ इंस्पेक्टर को इसके हिसाब-किताब का जिम्मा सौंपा गया था। वह अब पेमेंट पर कुंडली मारे बैठा और रिकार्ड उपलब्ध करवाने में आनाकानी कर रहा है। इतना ही नहीं पिछले एक सप्ताह से वह ड्यूटी से भी नदारद है।

खबरें और भी हैं...