पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रामीणों में रोष:मोडियाखेड़ा में पेयजल की किल्लत, खारे पानी की सप्लाई बंद करने की मांग

सदर सिरसा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिरसा। गांव मोडियाखेड़ा में पानी को लेकर रोष जताते ग्रमीण। - Dainik Bhaskar
सिरसा। गांव मोडियाखेड़ा में पानी को लेकर रोष जताते ग्रमीण।
  • खारे पानी मिलने से ग्रामीणों दूर-दराज क्षेत्रों से लाते हैं पेयजल, सीवर लाइन डालने के चलते में टूट गई है पाइप

गांव मोडियाखेड़ा में पीने के पानी की किल्लत को लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। ग्रामीण दूर दराज क्षेत्र से पानी लाने को मजबूर हैं। ग्रामीण राहुल, प्रवीण, किशोरी लाल, विजय कुमार, हरिकृष्ण, नरेश कुमार ने बताया कि गांव के वाटर वर्कर्स में एक ही डिग्गी है और एक ही ट्यूबवेल लगा है। नहर में पानी नहीं आने से ग्रामीणों को ट्यूबवैल का पानी सप्लाई किया जा रहा है। जो पीने लायक नहीं है।

ग्रामीण ट्यूबवेल के पानी का सैंपल भी चैक करवा चुके हैं, जिसकी रिपोर्ट में क्वालिटी बिल्कुल खराब बताई गई है। कोरोना महामारी के चलते ऐसा पानी पीने से गांव में बीमारी फैलने का ज्यादा खतरा है। ग्रामीणों का कहना है कि महिलाओं को दूर क्षेत्रों में जाकर पानी लाना पड़ता है। पंचायती ट्यूबवैल की सप्लाई भी हर घर तक नहीं पहुंच रही। उन्होंने बताया कि गांव में सीवर लाइन डाली गई थी, जिसके कारण पाइप कहीं से टूटी होने के चलते गंदा पानी सप्लाई हो रहा है।

गंदा पानी पीने की सप्लाई में मिक्स होकर घरों में पहुंच रहा है। ग्रामीणों ने विभाग से मांग की है कि जल्द से जल्द टूटी पेयजल पाइप लाइन ठीक करवाई जाए और वाटर वर्कर्स में लगा खारे पानी का ट्यूबवैल बंद किया जाए। वाटर वर्कर्स में एक ओर नई डिग्गी बनाकर पानी की व्यवस्था सुचारू रूप से की जाए।

खबरें और भी हैं...