ओरिएंटेशन कार्यक्रम:अब सरकारी विद्यालयों के स्टूडेंट्स भी टैबलेट से करेंगे एनडीए परीक्षा की तैयारी

सिरसा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुपर-100 में चयन विद्यार्थी दो दिवसीय ओरिएंटेशन कार्यक्रम के लिए आज होंगे रवाना

सुपर-100 एनडीए की दोहरी परीक्षा के पश्चात निशुल्क कोचिंग के लिए चयनित सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को शिक्षा विभाग की तरफ से टैबलेट उपलब्ध करवाए जाएंगे। इन टैबलेट के माध्यम से विद्यार्थी ऑनलाइन कक्षाएं लगा सकेंगे। कोचिंग के शुरू होने से पहले चयनित बच्चों के लिए पंचकूला में दो दिवसीय ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम 8 व 9 जनवरी को आयोजित किया जाएगा।

इस दौरान विद्यार्थियों को कोचिंग को लेकर चार माह की समय सारिणी के बारे में अवगत करवाया जाएगा। साथ ही उन्हें वर्ष 2022 में परीक्षा को लेकर आवेदन प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। कार्यक्रम में सभी जिलों के जिला विज्ञान विशेषज्ञ व जिला गणित विशेषज्ञ बच्चों के साथ भाग लेने के लिए शनिवार को रवाना होंगे। विभाग की तरफ से पहली बार विद्यार्थियों को सुपर-100 एनडीए की परीक्षा की तैयारी को नि:शुल्क कोचिंग दी जा रही है।

जिले के इन 4 बच्चों का हुआ चयन
सुपर-100 एनडीए में सिरसा के चार विद्यार्थियों का चयन हुआ है। चारों विद्यार्थी ग्यारहवीं के हैं। इनमें गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल रानियां से सबदिल कंबोज, गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिरसा से विकास, गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल कंवरपुरा से सोम व गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल भरोखां से सुनील शामिल है।
विद्यार्थियों को दो दिवसीय ओरिएंटेशन कार्यक्रम के लिए पंचकूला लेकर जाया जा रहा है। जो विद्यार्थी सुपर-एनडीए की कोचिंग के लिए चयनित हुए है। उन्हें ऑनलाइन कक्षाएं लगाने के लिए विभाग की ओर से टैबलेट दिए जाएंगे। - नीरज पाहुजा, जिला गणित विशेषज्ञ, सिरसा।

प्रदेश के विद्यार्थियों के साथ जिले के 4 को देगा कोचिंग
जिले के 4 विद्यार्थियों का चयन नि:शुल्क कोचिंग को हुआ है। इससे पहले विभाग की ओर से विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग व मेडिकल परीक्षाओं की तैयारी को लेकर भी कोचिंग दी जा रही है। चंडीगढ़ का फोकस कोचिंग सेंटर विद्यार्थियों को कोचिंग देगा। इसे लेकर पिछले वर्ष लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा के आधार पर प्रदेश के विभिन्न जिलों से 112 विद्यार्थियों का चयन किया है। 90 विद्यार्थी ग्यारहवीं व 22 बच्चे बारहवीं कक्षा के हैं।

खबरें और भी हैं...