सट्‌टेबाजी का काला बाजार:रात को बुकीज की सूचना पर होटलों में दी दबिश, एक सट्‌टा खाइवाल को 5 हजार के साथ पकड़ा

सिरसा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आईपीएल में सट्‌टेबाजी रोकने लिए एक्शन मोड में दिखी सीआईए की टीमें

किक्रेट के फटाफट प्रारूप आईपीएल में क्रिकेट स्टोरियों का धंधा शुरू हो गया है। पहले दो मैचों में ही सिरसा में जमकर सट्‌टा लगा है। सेशन और टीम के सौदे मिलाकर कुल 200 करोड़ रुपये से अधिक के दांव पहले दोनों मैंचों में लगाए गए हैं। इधर सट्‌टेबाजी रोकने के लिए सीआईए सिरसा की टीम भी एक्शन मोड में दिखी है। शहर के होटलों में बुकीज चलने की सूचना पर सीआईए इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने कड़ा संज्ञान लिया और शनिवार की रात को कई जगह दबिश देकर बुकीज के ठिकाने तलाशे। जिसमें शहर के दो होटलों में भी रेड की गई।

जिसमें एक होटल से स्टोरिए को भी दबोचा , मगर वह बुकीज नहीं पर्ची वाला सट्‌टा यानि खाईवाल निकला। उसे 5 हजार रुपये की नगदी के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सीआईए की होटल में रेड की सूचना पर होटल संचालकों में हड़कंप मच गया था। शहर में चर्चा हो गई थी कि पुलिस ने क्रिकेट की बुकीज पकड़ ली है। पकड़े गए आरोपी की पहचान विजय निवासी मेला ग्राउंड के रूप में हुई है। जो नंबर वाला सट्‌टा लगवाता है। होटल को सुरक्षित मानकर अपना सौदे कर रहा था। इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि होटलों में बुकीज का धंधा चलता है। इसलिए रेड की थी। मगर क्रिकेट बुकीज नहीं मिली। आईपीएल में बुकीज चलाने वालों पर सख्ती से एक्शन लिए जाएंगे।

एसपी ने दिए सख्त एक्शन लेने के आदेश

आईपीएल शुरू होते ही एसपी भूपेंद्र सिंह ने सभी थाना प्रभारियों को स्पेशल आदेश जारी कर दिए थे कि टीमें बनाकर क्रिकेट बुकीज चलाने वालों पर निगाहें रखी जाए। एसपी के आदेशों अनुसार सभी थाना प्रभारियों ने शहर में अपने मुखबिरों का जाल बिछाना शुरू कर दिया है।। एसपी ने इसके लिए सीआईए प्रभारी को विशेष आदेश दिया है। यहां बता दें कि शहर में करीब 40 से 50 बुकीज चलती है। पुलिस हर बार इनको पकड़ने के लिए रणनीति तो तैयार करती है। मगर परिणाम कभी नहीं देती।;शहर में किक्रेट सट्टे का गोरखधंधा करने वाले करीब 40 बड़े नाम है। जिनके तार सीधे देश के बड़े सटोरियों जुड़े हुए है। इस गेम में सटोरियों की भाषा में सट्टा लगवाने वाले को बुकीज लगाने वाले ग्राहक को फैंटर बुलाया जाता है।

200 करोड़ का सट्‌टा बोला जा चुका

सिरसा में आईपीएल शुरू होते ही बुकीज एक्टिव हो चुकी है। आईपीएल का शुरूआती चरण ग्राहक यानि फैंटर के पक्ष में माना जाता है। एक स्टोरिए ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि आईपीएल के पहले दो मैच में फैंटर यानि ग्राहकों ने पैसे कमाए हैं। हमेशा ही शुरूआती चरण में ग्राहक को पैसा आता है। इसलिए बड़ी बुकीज शुरूआती मैच के सौदे कम करवाती है। पहले दो मैच में अकेले सिरसा सिटी से ही 200 करोड़ रु़पये का सट्‌टा बोला जा चुका है। अकेले सिरसा शहर से प्रत्येक मैच में 80 से 100 करोड़ रुपये इधर से उधर होते हैं। सबसे अधिक सट्टा मैच में सेशन और पारी पर लगते हैं।

खबरें और भी हैं...