पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पहल:आपसी मनमुटाव के चलते बिखरे परिवारों को जोड़ रही पुलिस की महिला सेल, एक वर्ष में 688 घर बसाए

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दोनों पक्षों को बुलाकर की जाती है काउंसलिंग, किसी भी समय पुलिस सुरक्षा ले सकती पीड़ित महिला

जिला में घरेलू हिंसा और नशे की वजह से प्रताड़ित हो रही महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए शुरू की गई पुलिस की विंग महिला सेल परिवार बसाने में सार्थक सिद्ध हो रही है। ससुरालियों या पति के साथ चल रहे मनमुटाव को दूर करवाकर महिला सेल टूटे परिवारों को जोड़ रही है।

पिछले एक साल में 688 परिवारों की शिकायतों का निपटान किया गया और उनका राजीनामा करवाकर उनके जीवन को सार्थक दिशा में मोड़ते हुए उन्हें टूटने से बचाया है। अब महिला सेल की कमान एसपी भूपेंद्र सिंह ने इंस्पेक्टर सविता रानी को सौंपी है।

सविता रानी का कहना है कि उनका मकसद है किसी परिवार में महिला प्रताड़ित ना हो और उन्हें न्याय दिलाया जाए। इसके लिए वे प्रयासरत रहेंगी। यहां बता दें कि महिला सेल में सबसे ज्यादा घरेलू हिंसा, देहज प्रथा व अन्य किसी पारिवारिक विवाद के चलते शिकायत आती है।

काउंसलिंग के निकल रहे सार्थक परिणाम

सिरसा महिला थाना में स्थापित महिला सेल की नव नयुक्त प्रभारी इंस्पेक्टर सविता ने बताया कि अक्सर देखा गया है कि पती पत्नी या सास बहू की आपसी मतभेद से मामला इतना गंभीर हो जाता है कि परिवार टूटने की नौबत आ जाती है। जो भी महिला उनके पास फरियाद लेकर आती है तो दोनों पक्षों को बार बार बुलाकर उनकी काउंसलिंग की जाती है। उनके बीच का मनमुटाव दूर किया जाता है।

उनका घर बसाकर पुन खुशियां लौटाने का भरसक प्रयत्न किया जाता है ताकि किसी का परिवार ना टूटे । उन्होंने बताया कि मां बाप की आपसी कलह से बच्चों पर बहुत बुरा असर पड़ता है और वे परिवार टूटने के सदमे को जिन्दगी भर भूल नही पाते है। इंस्पेक्टर सविता ने बताया कि महिला पुलिस महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पूरी तरह से कटिबद्ध है।

परिवारों के बीच समझौता नहीं होने पर 115 मामलों में दर्ज किए गए हैं केस

महिला सेल प्रभारी इंस्पेक्टर सविता ने बताया कि वर्ष 2020 की अवधि के दौरान कुल 918 मामले आए । सेल प्रभारी ने बताया कि 688 मामलों को महिला सेल ने सफलता पूर्वक निपटाकर उनके घर बसाकर उनके परिवारों में खुशियां लौटाई।

उन्होंने बताया कि 115 मामलों में बार बार काउंसलिंग करने के उपरांत समझौता ना होने पर विभिन्न थानों में अभियोग अंकित किए गए है । सेल प्रभारी ने बताया कि घरेलू हिंसा से संबंधित 60 मामले पीपीओ सेल को भी रैफर किए गए है । जिनको सुलझाने के लिए दोनों पक्षों को बुलाकर निपटाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 55 मामले अब भी महिला सेल में विचाराधीन है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें