विवाद / ईसी मीटिंग में पद से हटे प्रोफेसर ने वीसी को भेजी आपत्ति, फैसले को बताया गलत

X

  • सीडीएलयू: डीन ऑफ एकेडमिक को लेकर विवाद

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

सिरसा. चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी की कार्यकारी परिषद की ओर से किए गए बदलाव को लेकर अब विवाद खड़ा हो गया है। कार्यकारी परिषद में डीन ऑफ अकेडिमक को बदलने का फैसला वीसी की सिफारिश पर किया, लेकिन अब पद से हटे प्रोफेसर ने इस संबंध में आपत्ति जता दी है। उन्होंने वीसी को पत्र भेजकर नियमों का हवाला देते हुए इस फैसले का गलत करार दिया है।
सीडीएलयू की कार्यकारी परिषद की मीटिंग में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए थे।

इस दौरान वीसी की सिफारिश पर डीन ऑफ एकेडमिक को बदला गया। डीन ऑफ एकेडमिक का अतिरिक्त चार्ज प्रोफेसर राजकुमार सिवाच के स्थान पर प्रोफेसर दीप्ती धर्माणी को दो साल के लिए दिया गया। लेकिन इस फैसले से प्रोफेसर राजकुमार सिवाच नाराज हो गए और नियमों का हवाला देते हुए रोष के साथ अपनी आपत्ति भी दर्ज की। प्रोफेसर राजकुमार सिवाच ने वीसी को पत्र भेजकर आपत्ति जताई।

प्रोफेसर राजकुमार सिवाच ने अपने पत्र में कहा कि उनकी नियुक्ति 16 अगस्त 2019 को हुई थी और उन्हें दो वर्ष के लिए डीन ऑफ एकेडमिक का चार्ज दिया गया था। लेकिन अब केवल 10माह और 18 दिन बाद ही ये फैसला अचानक बदल दिया गया है जो नियमों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि वीसी ने समय सीमा खत्म होने से पहले ही बदलाव कर दिया । प्रो. राजकुमार ने कहा कि मेरे खिलाफ न तो कोई शिकायत है और न ही कोई आरोप। इसके बावजूद मुझे पद से हटा दिया गया। प्रो. ने मांग की कानून को ध्यान में रखते नए डीन ऑफ एकेडमिक संबंधी नोटिफिकेशन को विड्रा किया जाए।

यूनिवर्सिटी नियम के अनुसार किया बदलाव: वीसी
^कार्यकारी परिषद को किसी भी तरह का बदलाव करने या कोई फैसला करने का पूरा अधिकार है। कार्यकारी परिषद यूनिवर्सिटी की सुप्रीम बॉडी है। डीन ऑफ एकेडमिक को बदलने का फैसला मेरी सिफारिश पर ही कार्यकारी परिषद ने लिया है। हालांकि इससे पहले नियुक्त किए गए डीन ऑफ एकेडमिक का फैसला तत्कालीन वीसी ने बिना कार्यकारी परिषद की मंजूरी के लिया था। इतना ही नहीं डीन ऑफ एकेडमिक के कार्यकाल में संतोषजनक काम भी नहीं हो पाया।

इसलिए व्यवस्था में सुधार के लिए ये फैसला लिया है। चाहता तो मैं भी स्वयं ये बदलाव कर देता, लेकिन मैंने कार्यकारी परिषद को ही सिफारिश की, क्योंकि फैसला लेने के लिए कार्यकारी परिषद के पास ही शक्तियां हैं। डीन ऑफ एकेडमिक बदलने को लेकर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं।'' -प्रो. राजबीर सोलंकी, कुलपति सीडीएलयू, सिरसा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना