जिला योजनाकार विभाग की कार्रवाई:एयरफोर्स स्टेशन के आसपास के एरिया में निर्माण पर रोक, पहले से बन रहीं दुकानें और मकान भी टूटेंगे

सिरसा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला योजनाकार विभाग इन दिनों अवैध कॉलोनी और निर्माण को तोड़ने में लगा हुआ है। इसी कड़ी में अब विभाग ने एयरफोर्स स्टेशन क्षेत्र में भी अपना अभियान शुरू कर दिया है। सुरक्षा की दृष्टि से एयरफोर्स स्टेशन क्षेत्र के आसपास के इलाके को चिन्हित करके वहां पर चेतावनी बोर्ड लगा दिए गए हैं।

इसके अलावा विभाग ने एरिया निर्धारित करके नए निर्माण को लेकर भी सूचना पट् लगा दिए हैं। आदेशों की अवेलहना करने वालों पर सख्त एक्शन लिया जाएगा। डीटीपी अरविंद्र ढूल की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक विभाग की एक टीम ने एयरफोर्स स्टेशन के आसपास के इलाके का सर्वे करके नए निर्माण करने और यहां तक की कोई पेड़ पौधे लगाने पर भी रोक लगा दी है। विभाग ने एयरफोर्स स्टेशन के 100 मीटर सामने रेलवे लाइन तक सीमा निर्धारित की है।

वहीं 900 मीटर का दायरा लंबाई में स्टेशन के साथ लगते हुए निर्धारित किया है। यहां दोनों तरफ चेातवनी बोर्ड लगाए गए हैं। जिसमें साफ लिखा है कि रक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा गजट नोटिफिकेशन दिनांक 13. जनवरी 2010 के अनुबंध के अनुसार वायूसेना केंद्र सिरसा बाह्य मुंडेर के शिखर से 100 मीटर की सीमा के अदंर कोई भवन निमार्ण अथवा पेड़ नहीं लगाया जा सकता।

तय सीमा वायुसेना केंद्र के प्रतिष्ठानों के के लिए विस्तार योग्य है। भूमि को खंडों में बेचने पर दी हरियाणा नगरीय क्षेत्र विकास तथा विनिमय अधिनियम 1975 की धारा 7क की उलंघन मानी जाएगी। जिस पर तीन साल की सजा एवं जुर्माने का प्रावधान है। डीटीपी विभाग की टीम में जेई निरंजन सिंह, फील्ड इनवेस्टीगेटर धर्मपाल और सुरेंद्र मौजूद थे।

अवैध निर्माण के खिलाफ अभियान चला रहा जिला योजनाकार विभाग

जिला योजनाकार विभाग ने जहां नए निर्माण पर रोक लगाई है। वहीं पहले से लोगों की ओर बनाए गए मकान , दुकान और अन्य प्रतिष्ठान भी तोड़े जाएंगे। डीटीपी की ओर से इन सभी मकान मालिकों और संस्थान संचालकों को शोकॉज नोटिस जारी किए जा चुके हैं। यह सब मकान अवैध रूप से बिना विभाग से परमिशन लेकर बनाए गए हैं। इसलिए इनके खिलाफ कार्रवाई होगी। जिसमें सबसे बड़ा मुद्दा एयरफोर्स स्टेशन की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है। यहां बता दें कि लोगों ने सैकड़ों मकान और दुकान सहित गोशाला और स्कूल, फैक्ट्री बना रखी है। इसलिए विभाग ने अपनी कार्रवाई के लिए तैयारियां शुरू कर दी है। वहां के लोगों के माथे पर अब चिंता की लकीरें आना लाजिमी है।

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने भी भेज रखी रिपोर्ट निर्माण को बताया खतरनाक

राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी एजेंसियां भी इस मामले को लेकर गंभीर है। क्योंकि यहां पर एयरफोर्स स्टेशन है। इसलिए इसके आसपास कोई कॉलोनी , मकान या उद्योग होना सुरक्षा की दृष्टि से ठीक नहीं माना जा रहा है। कोई भी साजिशकर्ता यहां पर रहकर रेकी कर सकता है। यहां ठिकाना बना सकता है।

इसके अलावा एयरफोर्स स्टेशन से जुड़ी गतिविधियों की जानकारी शेयर कर सकता है। इसलिए सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार और रक्षा मंत्रालय को इस संबंध में जानकारी दी हुई है। यह भी एम प्रमुख कारण है कि अब जिला योजनकार विभाग और अलर्ट हो गया है। इसलिए ही पुराने निर्माण और नए निर्माण को लेकर नोटिस और चेतावनी बोर्ड जारी किए गए हैं।

अवैध निर्माण को लेकर सर्वे कर रहा विभाग

जिला योजनाकार विभाग के मुख्य अधिकारी अरविंद्र ढूल ने बताया कि अवैध निर्माण को रोकने और तोड़ने के लिए विभाग की टीमें शहर और आसपास के इलाकों में लगातार सर्वे कर रही है। जहां भी उन्हें लगता है कि यहां पर अवैध रूप से कॉलोनी काटी जा रही है या निर्माण किया गया है। वहां तुरंत करवाई अमल में लाकर नोटिस प्रक्रिया पूरी की जाती है। उसके बाद एक्शन लिया जाता है।

खबरें और भी हैं...