पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बरसे बदरा:राजस्थान में बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के चलते जिले में हुई बारिश

सिरसा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुरखाब चौक पर पंप सेट लगाकर बरसाती पानी निकालते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
सुरखाब चौक पर पंप सेट लगाकर बरसाती पानी निकालते कर्मचारी।
  • कहीं हल्की और कहीं तेज बरसात के चलते निचले इलाकों में भरा पानी, लोगों को हुई परेशानी, 14 तक परिवर्तनशील रहेगा मौसम

मौसम में आए बदलाव के बाद रविवार को लगातार दूसरे दिन भी आसमान में बादल छाए रहे। दिनभर कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश हुई। शहर के बस स्टैंड, ओवरब्रिज, अंबेडकर चौक, बेगू रोड, शिव चौक, जनता भवन रोड, सूरतगढि़या बाजार, सिविल अस्पताल रोड पर पानी भर गया। जहां से लोगों का आवागमन मुश्किल बना रहा। इतना ही नहीं शहर की अग्रसेन कॉलोनी में बरसाती पानी जमा होने से लोगों की मुश्किलें फिर से बढ़ गई। उनका घरों से बाहर निकला दूभर हो गया।

इधर बरसात से नरमा, कपास, ग्वार, बाजरा की फसलों को नुकसान होना बताया गया है। किसानों ने इस बारिश से बेमौसमी करार दिया है। ऐसे में बारिश लगातार होती रही तो नरमा-कपास की फसलों में भारी नुकसान होगा। रविवार को सुबह जिला में कहीं तेज व कहीं हल्की बारिश हुई। सुबह आसमान में बादल छाए रहे। हल्की बरसात से होने से गलियों में कीचड़ जमा हो गया।

वहीं दोपहर बाद तेज बारिश होने पर सड़कों पर जलभराव हो गया। निचले इलाकों में पानी भरने से वाहन चालकों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। नगर परिषद की ओर से कई कॉलोनियों में उखाड़ी गई गलियों में बरसाती पानी जमा होने के चलते गहरे गड्ढे हो गए। गलियों में पानी खड़ा होने से लोगों को घरों से निकलना मुश्किल हो गया। इसके अलावा जनस्वास्थ्य विभाग ने शहर से पानी निकालने के लिए 5 जगहों पर पंप सेट लगाए।

अग्रसेन कॉलोनी में भरा पानी, लोगों ने नप के कर्मचारियों को कोसा

रविवार को बरसात होने के कारण एक बार फिर अग्रसेन कॉलोनी में बरसाती पानी जमा होने से लोगों ने नगर परिषद कर्मचारियों को कोसा। कॉलोनी वासियों ने कहा कि नगर परिषद के चलते वे यहां नारकीय जीवन जी रहे हैं। गलियां उखाड़ने पर गहरे गड्ढों में तब्दील हो चुकी हैं। गलियों में कीचड़ जमा होने से वे घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं।

मौसम पूर्वानुमान... अगले दो दिन बादलवाई और कहीं-कहीं हो सकती है हल्की बारिश

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार में कृषि मौसम विज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ. मदनलाल खीचड़ ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाब के क्षेत्र व राजस्थान के ऊपर बने एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन और मानसून टर्फ दक्षिण की ओर होने से राज्य में मौसम 14 सितम्बर तक आमतौर पर परिवर्तनशील रहने, बीच- बीच में बादलवाई और कहीं -कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...