पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Sirsa
  • Roadways Personnel, Furious Over The Arrest Of Clerk And Peon Along With The Accused Of Taking Bribe, Closed Both The Gates Of The Adjoining Stand.

कार्रवाई के बाद हंगामा:रिश्वत लेने के आरोपियों के साथ क्लर्क और चपरासी की गिरफ्तारी पर भड़के रोडवेज कर्मियों ने बसों को अड़ा स्टैंड के दोनों गेट किए बंद

सिरसा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बस स्टैंड परिसर से रिश्वत लेते पकड़े गए क्लर्क को गिरफ्तार करके लेकर जाती विजिलेंस।
  • एसीपी लगाने के लिए रोडवेज विभाग में दो परिचालकों से रिश्वत मांगने के मामले में विजिलेंस की कार्रवाई, 40 मिनट लगाया जाम

रोडवेज विभाग में कार्यरत दो परिचालकों से एसीपी यानि अलाउंस करियर प्रोग्रेस लगाने के नाम पर रिश्वत मांगने वाले दो क्लर्कों पर विजिलेंस टीम की ओर से की गई कार्रवाई के बाद रोडवेज कर्मचारी भड़क गए। आरोपी क्लर्कों के साथ एक अन्य क्लर्क और पीयन को गिरफ्तार करने से नाराज रोडवेज यूनियन के पदाधिकारियों ने बस स्टैंड के गेट आगे आड़ी तिरछी बसें लगाकर गेट रोक दिया। गेट के आगे नारेबाजी करने लगे। बस स्टैंड के गेट पर प्रदर्शन की सूचना मिलने पर एसडीएम सिरसा जयवीर यादव और डीएसपी आर्यन चौधरी भारी पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे।

उन्होंने कर्मचारियों को बातचीत करने के लिए मनाया। मगर कर्मचारी इस बात पर अड़ गए कि निर्दोष क्लर्क और पीयन को विजिलेंस ने कैसे गिरफ्तार कर लिया। उन्हें तुरंत छोड़ा जाए। रोडवेज कर्मियों की बात सुनने के बाद एसडीएम ने उन्हें आश्वासन दिया कि किसी के साथ नाजायज नहीं होगा। पूछताछ में आरोप सिद्ध नहीं होते हैं तो उन्हें तुरंत छोड़ दिया जाएगा। मगर रोडवेज कर्मी अपनी जिद पर अड़े रहे। आखिरकार एसडीएम और डीएसपी ने रोडवेज कर्मचारियों को पांच लोग साथ लेकर विजिलेंस टीम से बातचीत करने के लिए राजी किया। उसके बाद कर्मचारी मान गए और बस स्टैंड का गेट खोल दिया। उसके बाद बसों का अवागमन शुरू हो पाया।

40 मिनट बाद खोले गए बस स्टैंड के दोनों गेट

विजिलेंस की टीम ने करीब एक बजे बस स्टैंड में दबिश देकर क्लर्क के कार्यालय में कार्रवाई की थी। एक बजे जब टीम दो आरोपी क्लर्क और दो साथ बैठे क्लर्क और पीयन को लेकर जाने लगी तो अन्य कर्मचारियों ने टीम से बहसबाजी शुरू कर दी। सबका कहना था कि क्लर्क कीमत सिंह और पीयन मनीष निर्दोष है। उन्हें गिरफ्तार क्यों किया है। मगर विजिलेंस टीम बिना कोई जवाब दिए उन्हें लेकर चली गई। जब इसकी भनक यूनियन के नेताओं को चली तो वे तुरंत बस स्टैंड के गेट पर पहुंच गए। वहां पर बसें गेट के आगे लगाकर गेट रोक दिया। दोपहर एक बजकर 30 मिनट से 2 बजकर 10 मिनट तक गेट बंद रखे। इस दौरान बस स्टैंड में आए यात्रियों से उनकी बहस भी हुई। अपनी यात्रा में बाधा पड़ने से नाराज यात्रियों में से एक यात्री ने चेतावनी दी कि उसके साथ बीमार सवारी है।

क्लर्क और चपरासी को छोड़ा

जब डीएसपी आर्यन चौधरी के साथ रोडवेज यूनियन के नेता विजिलेंस कार्यालय पहुंचे और आरोपी क्लर्क ओमप्रकाश और पृथ्वी सिंह के साथ ही पकड़े गए क्लर्क कीमत सिंह और पीयन मनीष के संबंध में बातचीत की। विजिलेंस की टीम ने बताया कि उन्हें शक के आधार पर लेकर आए थे। उनसे पूछताछ पूरी हो गई है। उनका कोई कसूर नहीं निकला है। उन्हें छोड़ दिया जाएगा। करीब दो घंटे के बाद दोनों को छोड़ दिया गया था।

सिरसा और हिसार विजिलेंस ने मारा था छापा, रोडवेज के परिचालकों ने दी थी शिकायत

सिरसा डिपो के परिचालक अमर सिंह और मदन ने सिरसा और हिसार विजिलेंस ब्यूरो को अलग अलग शिकायत दी कि क्लर्क ओमप्रकाश और पृथ्वी सिंह एसीपी यानि अलाउंस करियर प्रोग्रेस की एवज में उनसे 2 से 8 हजार रुपये की रिश्वत मांग रहे है। शिकायत के आधार पर हिसार टीम के इंचार्ज ईश्वर सिंह रोडवेज ऑफिस पहुंचे। जैसे ही क्लर्क ओमप्रकाश ने परिचालक मदन से दो हजार रिश्वत की राशि अपने हाथों में ली विजिलेंस ने उसे दबोच लिया और उसके पास से दो हजार रुपये बरामद कर लिए। इसी दौरान सिरसा विजिलेंस की टीम भी रोडवेज ऑफिस पहुंची।

परिचालक अमरसिंह ने सिरसा विजिलेंस को शिकायत दी थी कि एसीपी की एवज में क्लर्क पृथ्वी सिंह उससे आठ हजार रुपये रिश्वत मांग रहा है। सिरसा विजिलेंस की टीम ने इंचार्ज अनिल सोढ़ी के नेतृत्व में क्लर्क पृथ्वी सिंह को काबू किया। मगर पृथ्वी सिंह के पास से पैसे बरामद नहीं हुए। इसी दौरान उसके पास एक अन्य क्लर्क कीमत सिंह और पीयन मनीष बैठा था। टीम को शक हुआ कि पैसे इनको दे दिए गए हैं। इसलिए टीम ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। इस बात को लेकर हंगामा हो गया। आखिर में जब तीनों से पैसे बरामद नहीं हुए तो विजिलेंस सिरसा ने कॉल रिकार्डिंग के आधार पर पृथ्वी सिंह पर केस तो दर्ज कर लिया, मगर उसे गिरफ्तार नहीं किया। उसे छोड़ दिया। वहीं उसके साथ ही शक के आधार पर लाए गए क्लर्क कीमत और पीयन मनीष को भी क्लीनचिट दे दी गई। इस करवाई में ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार श्री निवास और डीडीए बाबूलाल बनाये गए थे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें