पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना संक्रमण:15 दिनों में जिले के 70 गांवों के 11341 ग्रामीणों के लिए सैंपल, 1770 संक्रमित मिले

सिरसा21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिरसा। ग्रामीणों को कोरोना से बचाव बारे जागरूक करते व आशंकितो के सेंपल लेते हुए टीम। - Dainik Bhaskar
सिरसा। ग्रामीणों को कोरोना से बचाव बारे जागरूक करते व आशंकितो के सेंपल लेते हुए टीम।
  • चौटाला में 71, पोहड़कां में 62 व चाहरवाला में 31 एक्टिव केस
  • जिले के 30 गांवों में भी 10 से अधिक एक्टिव मरीज, प्रशासन अलर्ट

कोरोना वैश्विक महामारी की दूसरी लहर में जिले के 70 गांव सर्वाधिक प्रभावित हुए। जिनमें उन गांवों को चिह्नित किया गया, जिनमें संक्रमितों का आंकड़ा 10 से ज्यादा था ऐसे गांवों में होम आइसोलशन वार्ड बनाए गए। 15 दिनों में 11341 आशंकितों की जांच की। उनमें 1770 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, तो संक्रमितों को होम आइसोलेट किया गया है।

इस दौरान 27 गांवों के हालात सुधरे हैं, मगर 33 गांव अभी हॉट स्पॉट की कैटेगरी से बाहर नहीं आए हैं। जिले के 33 गांवों में अब तक 2677 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं और अभी 511 एक्टिव केस हैं। हर गांव में एक्टिव मरीजों की संख्या 10 से 72 तक है।

गांव चौटाला, ओढ़ां, पन्नीवाला मोटा, माधोसिंघाना, तलबाड़ा खुर्द व डिंग में 100 से ज्यादा संक्रमित मिले हैं। इनमें चौटाला गांव के सर्वाधिक 707 केस शामिल हैं, जिनमें 71 एक्टिव केस हैं । वहीं पोहड़कां में 62 व चाहरवाला में कोरोना के 31एक्टिव मरीज हैं। जिनको होम आइसोलेट कर रखा है ।

जानिए हॉटस्पॉट की कैटेगरी में हैं यह 33 गांव

70 गांव में कोरोना संक्रमण का प्रभावित था। इनमें 24 गांव में संक्रमितों का आंकड़ा 15 से अधिक था । पिछले 15 दिनों काफी गांव के हालात सुधरे हैं, मगर 33 गांव ऐसे हैं, जिनको अभी हॉट स्पॉट की कैटेगरी से बाहर नहीं किया गया है । उनमें गांव चौटाला, गंगा, खुइयांमलकाना, अलिका, ओढ़ां, पन्नीवाला मोटा, साहुवाला प्रथम, जगमालवाली, खारी सुरेरां, तलबाड़ा खुर्द, खारी सुरेरां, पोहड़कां, भूर्टवाला, बनी, खारियां, केलनियां, बड़ागुढ़ा, फरवाईं, दड़बी, सिकंदरपुर, बरुवाली, माधोसिंघाना, फूलकां, डिंग, नाथूसरी चोपटा, माखोसरानी, चाहरवाला, कागदाना, जमाल, रुपावास व रायपुर शामिल हैं।

पॉजिटिव मरीज को किया जाता है होम क्वारेंटाइन

स्वास्थ्य विभाग की टीमें ग्रामीणों की जांच में जुटी हैं, आशंकित मरीजों का आरएटी टेस्ट किया जाता है और अगर व्यक्ति पॉजिटिव पाया जाता है तो रोगी की स्थिति के आधार पर उसे होम क्वारंटाइन करने या विलेज कोविड केयर सैंटर में भेजा जाता है। कोरोना संक्रमितों को होम आइसोलेशन किट दी रही हैं । जिला में दो हजार होम आइसोलेशन किट पहुंची हैं । जिसमें डिजिटल थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, स्टीमर, एलोपैथिक मल्टी विटामिन व आयुष इम्यूनिटी बूस्टर व कोरोना संक्रमण से बचाव की हिदायतों की बुकलेट उपलब्ध करवाई जाती है।

खबरें और भी हैं...