पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समीक्षा रिपोर्ट में खुलासा:कोरोना संक्रमण से अब तक 79 मौतें, 65 पहले से थे बीमार

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी को आमजन हलके में ले रहा है लेकिन ये खतरनाक है। यदि जिलावासी अभी भी नहीं संभले तो स्थिति बिगड़ सकती है। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना काल की समीक्षा की ताे खुलासा हुआ कि अब तक कोरोना से हुई कुल मौत में दो तिहाई ऐसे हैं जो अस्पताल में दाखिल होने के 2 से 5 दिन के भीतर ही मौत का शिकार हुए। डॉक्टरों का मानना है कि यदि वे समय पर पहुंचते तो उन्हें बचाया जा सकता था। मंगलवार को कोरोना के 47 केस सामने आए हैं। इनमें सिटी से 34 केस हैं।

जिला में कोरोना से अब तक 79 मौत हुई हैं। कोरोना से मृत्युदर रोकने के लिए सिविल सर्जन ने निर्देश दिए। इस पर डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. वीरेश भूषण ने का शुरू किया और समीक्षा शुरू की। समीक्षा में खुलासा हुआ है कि अधिक उम्र के लोगों को कोरोना संक्रमण से ज्यादा नुकसान पहुंचाया है। इतना ही नहीं आमजन की लापरवाही के कारण भी मौत का शिकार हुए। 25 मरीज ऐसे हैं जिनकी अस्पताल पहुंचते ही दो दिन के भीतर मौत हो गई। इसके अलावा 25 ही मरीज ऐसे भी हैं जिनकी 3 से 5 दिन के भीतर मौत हुई यानि 50 मरीजों की मौत अस्पताल पहुंचने के 5 दिन के भीतर हो गई। डिप्टी सिविल सर्जन ने बताया कि इसका कारण लापरवाही है। यदि पहले गौर करके उन्हें अस्पताल लाया जाता तो बचाया जा सकता थाा।

सिविल सर्जन डॉ. कृष्ण कुमार ने बताया कि विभाग फिलहाल थ्री टी के फार्मूला पर फोकस कर रहा है। कोरोना से मृत्यु दर को कम करने के लिए सबसे पहला फार्मूला है ट्रैसिंग। यानी मरीज का जल्द से जल्द पता लगाना। दूसरा है टेस्टिंग, जैसे ही कोरोना संभावित मरीज ट्रैस हो जाए तो उसकी तुरंत टेस्टिंग की जाए। तीसरा है उपचार यानी ट्रीटमेंट। जल्द से जल्द मरीज का उपचार शुरू किया जा सकता है। इससे मृत्युदर को कम किया जा सकता है।

47 नए संक्रमित मिले, आंकड़ा 5 हजार पार

मंगलवार को 47 नये केस मिले हैं। इनमें सिरसा सिटी के 34 केस हैं। सिरसा सिटी में सी-ब्लॉक, हुडा सेक्टर-20, कीर्ति नगर, अग्रसेन काॅलोनी, कमेटी वाली गली, खैरपुर, बरनाला रोड, सदर बाजार, नंदन वाटिका, मेला ग्राउंड, जेजे कॉलोनी से मिले हैं। इसके अलावा ऐलनाबाद और बढ़ागुढ़ा से 1-1 केस, रानियां से 5 केस, माधोसिंघाना, कालांवाली और ओढ़ा से 2-2 केस मिले हैं। मंगलवार को 23 संक्रमित ठीक होकर घर लौट गए।

मृत्युदर को रोकने के लिए करवा रहे समीक्षा

सबसे जरूरी है कि कोरोना से होनी वाली मृत्युदर को कैसे रोका जाए। इसके बाद संक्रमण कम करना हमारा लक्ष्य है। कोरोना से हुई मौत के आंकड़ाें की हमने समीक्षा की है और जो रिजल्ट आए हैं, उनके आधार पर प्लान बनाएंगे। इसके बाद इस पर काम करते हुए बेहतर परिणाम लाएंगे।'' -डाॅ. कृष्ण कुमार, सिविल सर्जन सिरसा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें