पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Sirsa
  • The Accused Who Murdered Aunt Had Sold The Goldsmith Of Kagdana To Bring The Gold Locket For The Second Day, After The Noise Of Murder, The Accused Sat In The House Hiding

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नशे में डूबता सिरसा:चाची की हत्या करने वाले आरोपियों ने कागदाना के सुनार को बेचा था सोने का लॉकेट दूसरे दिन लाने थे पैसे, हत्या का शोर मचने के बाद घर में छिपकर बैठ गए थे आरोपी

सिरसा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मैना देवी की हत्या के दोनों आरोपियों ने रिमांड के दौरान उगले राज

(कुलदीप शर्मा)
गांव कुम्हारिया में नशे की लत पूरी करने के लिए चाची मैना देवी की हत्या करने वाले दोनों आरोपियों से पुलिस ने रिमांड के दौरान हत्या में प्रयोग किया गया डंडा और कपड़े बरामद कर लिए हैं। इसके अलावा चाची के गले से छीना गया सोने का लॉकेट के बारे में भी आरोपियों ने पुलिस के समक्ष खुलासा कर दिया है। दोनों आरोपी पवन और संदीप ने बताया कि उन्होंने सोने का लॉकेट कागदाना गांव के एक सुनार को बेचा था। सुनार ने उसकी कीमत 7 हजार रुपये लगाई थी।

मगर तब सुनार के पास रुपये नहीं थे। इसलिए उसने पेमेंट दूसरे दिन ले जाने को कहा था। जब दूसरे दिन वे पेमेंट लाने जाते। उससे पहले चाची गुम होने का शोर मच गया। जिससे वे डर गए। शाम को जैसेे ही शव मिल गया तो उन्होंने पोल खुलने के भय से खुद को छुपाए रखा। चौपटा थाना प्रभारी सत्यवान ने बताया कि आरोपियों का रिमांड पूरा हो गया है।

बीड़ी और हुक्के के बाद शराब और मेडिकल नशे की आदत पड़ी, फिर चिट्‌टे के महंगे नशे ने किया बर्बाद

हत्या के आरोपी पवन और संदीप उर्फ रमन निवासी कुम्हारिया 12वीं पास है। ओपन से बीए कर रहे हैं। पुलिस को दोनों आरोपियों ने नशेड़ी बनने की कहानी भी बताई। दोनों ने बताया कि वे छोटे थे तब गली से बीड़ी उठाकर पीया करते थे। फिर हुक्का भी पीने लगे। धीरे धीरे शराब भी पीना सीख गए।

इसके बाद संदीप उर्फ रमन वाल्मीकि मनाली चला गया। वहां इसको चिट्टे की लत लगी। संदीप ने ही आकर पवन को इस नशे के बारे में बताया और दोनों इसके आदी हो गए। पुलिस को दोनों ने बताया कि पहले वे मेडिकल नशा और शराब पीते थे। पिछले दो तीन महीने से ही वे चिट्‌टा का सेवन कर रहे हैं। अब चिट्टे के लिए पैसे अधिक चाहिए। जो उनको मिल नहीं रहे थे। इसलिए उन्होंने चाची के गले से सोने का लॉकेट छीनने का प्लान बनाया था। जिसके लिए उन्होंने हत्या कर दी।

हत्या में प्रयोग किया डंडा, खेत से लाकर तूड़ी के कोठे में छिपाया

मैनादेवी की हत्या करने में प्रयोग किया गया डंडा आरोपियों ने कुएं के पास से ही उठाया था। वह एक टूटी हुई छत में प्रयोग की जाने वाली बल्ली थी। हत्या करने के बाद वह बल्ली पवन अपने साथ घर पर ले आया। उसे तूड़ी के कोठे में छुपा दिया था। इसमें अहम बात यह भी है कि जिस दिन आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया। उस दिन उन्होंने नशा नहीं किया हुआ था। उनके पास पैसे नहीं थे और चिट्टे की तलब लगी हुई थी। इसलिए उन्होंने वारदात को अंजाम दिया। इसके अलावा पुलिस ने खून से सने आरोपियों के कपड़े भी बरामद कर लिए हैं।

नशे की लत पूरी करने के लिए बेरहमी से किया था चाची का कत्ल

यहां बता दें कि 6 दिन पहले गांव कुम्हारिया में 35 वर्षीय मैना देवी पत्नी जगदीश का शव खेत के कुएं में मिला था। जिसके सिर पर चोट लगी हुई थी। परिजनों ने हत्या का शक जताकर पुलिस जांच करवाई तो खुलासा हुआ कि मैना देवी के जेठ के लड़के पवन और उसके दोस्त संदीप ने यह वारदात अपनी नशे की लत पूरी करने के लिए की थी। पुलिस के आगे अपना गुनाह कबूल करते हुए पवन ने बताया था कि जब चाची मैना घर से निकली तो उसने देख लिया था।

पवन और संदीप दोनों पहले से ही खेत में जाकर सरसों की फसल में छुप गए। चाची मैना सरसों के पास ही चारा काटने के लिए बैठ गई। पीछे से पवन ने आकर मैना के सिर में पर वार कर दिया। जिससे मैना बेहोश होकर जमीन पर गिर गए। पवन और संदीप ने गले से लॉकेट तोड़ दिया और चाची को उठाकर सरसों के खेत में डालने चल पड़े। इसी दौरान चाची के शरीर में हलचल देखकर दोनों को लगा की चाची अभी जीवित है। कहीं उनकी पोल ना खुल जाए इसलिए पवन ने खेत में बनी क्यारी की डोली पर मुंह दबा दिया। मिट्टी में सांस नहीं आने से मैना देवी का दम घुट गया। उसके बाद पवन ने पैर पकड़े और संदीप ने हाथ। दोनों ने उसे कुंए में फेंक था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत व परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होगा। किसी विश्वसनीय व्यक्ति की सलाह और सहयोग से आपका आत्म बल और आत्मविश्वास और अधिक बढ़ेगा। तथा कोई शुभ समाचार मिलने से घर परिवार में खुशी ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser