पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नशा मुक्त भारत अभियान:जिस घर मैं हो नशे की बीमारी कर देवे कंगाल, टूम ठिकरी बिक ज्या भूखे सो रहे लाल...गीत से किया नशा के खिलाफ जागरूक

सिरसा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रशासन जिला को नशा मुक्त बनाने की दिशा में हर आवश्यक कदम उठा रहा है। लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियां जिला में नशा मुक्ति अभियान के तहत चलाई जा रही हैं। इसी कड़ी में सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की भजन मंडलियां गावों में लोगों को लोक गीतों के माध्यम से नशा न करने के लिए प्रेरित करने के साथ-साथ नशे के दुुष्परिणामों को गीतों के माध्यम से लोगों को बता रहे हैं।

नशा के कारण परिवार में कैसे हालात बन जाते हैं, विभाग के लीडर भजन पार्टी लाला राम द्वारा प्रस्तुत गीत से सहज रूप से समझा जा सकता है। गीत के बोल इस प्रकार हैं कि बीड़ी सिगरेट चिलम तम्बाकू, पोस्त ना खाईयों, चिट्टा पिके खो दी जवानी, कुछ तो सरमाइयों, बात मेरी सुण्इयों रै भाईयों, बात मेरी सुणल्यों रै भाईयों, नशा छोड़ के माणस बण ज्या राक्षस ना बणियों। जिस घर में हो नशे कि बीमारी कर देवे कंगाल, टूम ठिकरी सारी बिक ज्या भूखे सो रे लाल। भजन मंडली कलाकारों के नशा पर मार्मिक गीत लोगों को बता रहे हैं कि कैसे नशा नाश का कारण बनता है।

डीसी रमेश चंद्र बिढ़ाण ने बताया कि नशा मुक्त भारत अभियान के तहत जिला को नशा मुक्त बनाने के लिए विभिन्न माध्यमों से आमजन को जागरुक किया जा रहा है। जहां अधिकारियों द्वारा एक-एक गांव गोद लेकर योजनाबद्ध तरीके से लोगों को नशे के दुष्परिणाम बताए जा रहे हैं वहीं सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ-साथ पंचायत प्रतिनिधि भी इस मुहिम में अपनी सार्थक भूमिका निभा रहे हैं। नशे के जड़मूूल खात्मे के लिए समाज के सभी वर्गों को एकजुटता से अपना योगदान देना होगा। इसी कड़ी में सिरसा शहर में प्रचार अभियान के तहत चार जागरुकता ई-रिक्शा लोगों को फैलेक्स व बैनर के माध्यम से नशे के दुष्परिणामों का संदेश दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमारी युवा शक्ति को आगे आकर नशा मुक्त भारत अभियान मुहिम में अपना संपूर्ण सहयोग देना चाहिए। युवा शक्ति में ऊर्जा की कोई कमी नहीं होती और वे नशे में लिप्त दूसरे युवा साथियों को बेहतर ढंग से नशा छुड़वाने में मदद कर सकते हैं। कोई भी अभियान युवा शक्ति के सहयोग व सामूहिक प्रयास के बिना सफल नहीं हो सकता। इसके साथ-साथ गांव के मौजिज व बुजुर्ग भी युवाओं को नशे के दलदल से निकालने के लिए आगे आएं और नशे में लिप्त परिवारों को समाज की मुख् य धारा में लाने का पूनित कार्य में अपना अमूल्य योगदान दें। उन्होंने कहा कि नशे से ग्रस्त लोगों को नशा छोडऩे के लिए प्रेरित करते हुए उसे ईलाज के लिए नशा मुक्ति केंद्रों में लाएं।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन के साथ-साथ पुलिस प्रशासन भी जिला को नशा मुक्त बनाने के लिए पूरी गंभीरता से कार्य कर रहा है। जिला में बाहर से नशा सामग्री न आए और गांवों व शहरी क्षेत्र में नशा बेचने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने आह्वान किया कि नशा मुक्त मुहिम में हर नागरिक अपना योगदान व सहयोग करे ताकि जिला से नशे का जड़मूल खात्मा हो सके।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें