• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Sirsa
  • The New Company Took Over The Command, The Old Rate Will Be Applicable, If You Do Not Follow The Fast Tag, Then Penalty Will Also Be Imposed.

356 दिन बाद आज से कटेगा टोल:नई कंपनी ने संभाली कमान लागू रहेगा पुराना रेट, फास्ट टैग से नहीं चले तो पेनल्टी भी लगेगी

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार रोड स्थित भावदीन टोल प्लाजा को शुरू करने की तैयारी। - Dainik Bhaskar
हिसार रोड स्थित भावदीन टोल प्लाजा को शुरू करने की तैयारी।
  • श्री अखंड पाठ साहिब का भोग डालने के बाद भावदीन व खुइयां मलकाना टोल से मोर्चा उठाएंगे किसान
  • जिले में आंदोलनरत किसानों ने 24 दिसंबर आधी रात्रि से पर्ची मुक्त कर दिए थे दोनों टोल प्लाजा, 47 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद किसानों में उत्साह का माहौल है । आंदोलन जीत की खुशी में किसान कहीं विजयी जुलूस निकाल रहे हैं, तो यहां दिल्ली से लौटते किसानों का फूल मालाओं के साथ स्वागत हो रहा है । इधर भावदीन टोल प्लाजा पर धरनारत किसानों की ओर से बुधवार को श्री अखंड पाठ साहिब का भोग डाला जाएगा । इसके साथ ही किसान अपना मोर्चा उठाएंगे ।

उधर किसानों के उठने से पहले टोल प्लाजा शुरू करवाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं । जिले के भावदीन व खुइयां मलकाना टोल प्लाजा की कमान नई कंपनी ने संभाली है । जहां मंगलवार को सेंसर, जनरेटर रिपेयर, सिस्टम अपडेट व साफ- सफाई का दौर भी चला।

आज शुरू करवाए जाएंगे टोल प्लाजा

जिले के भावदीन टोल प्लाजा के टेंडर जेसी एंड कंपनी को अलॉट हो गया है । जहां किसान बुधवार को श्री अखंड पाठ साहिब का भोग डालेंगे । इसके बाद ही टोल शुरू करवाएंगे । फिलहाल पुराने रेट लागू रहेंगे, हालांकि फास्ट टैग नहीं होने या काम नहीं करने की एवज में पेनल्टी लगेगी ।'' -नसीब सिंह चहल, मैनेजर टोल प्लाजा भावदीन, सिरसा ।

श्री अखंड पाठ साहिब का भोग डालने के बाद एक साल से बैठे किसान धरने को समाप्त करेंगे

संयुक्त किसान मोर्चा व किसान जत्थेबंदियों के आह्वान पर कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलनरत किसानों ने 24 दिसंबर 2020 आधी रात्रि से डबवाली के खुइयां मलकाना व अगले दिन सुबह 8:15 बजे के बाद से भावदीन टोल को पर्ची मुक्त कर दिया था ।

जिले के दोनों टोल प्लाजा को किसान 356 दिनों से पर्ची मुक्त किए हुए हैं। किसान नेताओं ने साफ कर दिया था कि तीन कृषि कानून वापस नहीं होने तक टोल प्लाजा पर्ची मुक्त रहेगा। किसान नेता हरविंद्र सिंह थिंद ने बताया कि सरकार ने कृषि कानूनों को वापस लिया है। एक साल से धरनारत किसानों की ओर से बुधवार को श्री अखंड पाठ साहिब का भोग डाला जाएगा और धरना समाप्त किया जाएगा। इसके बाद कंपनी टोल चलाएगी।

भावदीन टोल से प्रतिदिन 10 लाख, खुइयां मलकाना टोल से 4 लाख रुपये की आमदनी थी

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलनरत थे, मई 2021 में एनएचएआई ने प्रदेशभर के टोल संभाले हुए संबंधित कंपनियों के टेंडर को टर्मिनेट कर दिया था। जिसके बाद एनएचएआई खुद टोल टेकओवर किए हुए थी। ऐसे जिले के दोनों टोल प्लाजा पर तैनात करीब 197 कर्मचारियों को संबंधित कंपनी ने घर का रास्ता दिखा दिया था । अब टोल खुलने से शायद उनमें कुछ को दोबारा रोजगार मिल पाएगा ।

इधर भावदीन टोल से प्रतिदिन10 लाख व खुइयां मलकाना टोल प्लाजा से 4 लाख की आमदनी थी। अगर किसानों को कृषि कानूनों के विरोध में नहीं उतरना पड़ता, तो सरकार को जिले के दोनों टोल से करीब 56 करोड़ आमदनी होनी थी । जिसका नुकसान उठाना पड़ा है।

खबरें और भी हैं...