जायजा:महिला कॉलेज का टीम ने किया निरीक्षण नए साल से नए भवन में ही लगेंगी कक्षाएं

सिरसा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रानियां के महाविद्यालय की छात्राएं समस्याओं के बारे में निरीक्षण करने आई टीम को अवगत करातीं हुई। - Dainik Bhaskar
रानियां के महाविद्यालय की छात्राएं समस्याओं के बारे में निरीक्षण करने आई टीम को अवगत करातीं हुई।
  • सड़कों पर उतरीं छात्राएं तो हरकत में आया विभाग

शहर के राजकीय महिला महाविद्यालय के नए भवन में छात्राएं नए साल से कक्षाएं लगा सकेंगी। उन्हें स्कूल के तीन कमरों में पढ़ाई नहीं करनी पड़ेगी। शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरेक्ट सुखविंद्र सिंह के नेतृत्व में गुरुवार को कॉलेज भवन का निरीक्षण करने पहुंची चार सदस्यीय टीम ने इसकी पुष्टि की है।

टीम ने छात्राओं को भरोसा दिलाया कि शीघ्र महाविद्यालय भवन की खामियों को दुरुस्त करवाया जाएगा। इसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी और निर्माण कार्य सिरे चढ़ाने बारे लिखा जाएगा। पिछले तीन से रानियां में राजकीय महिला महाविद्यालय की बिल्डिंग का निर्माण अधर में लटका है।

ऐसे में स्कूल के तीन कमरों में कक्षाएं लगाकर छात्राएं अपना एक सत्र पूरा कर चुकी हैं। जिन्होंने स्कूल के भवन में कॉलेज की शिक्षा प्राप्त की। अब नए सत्र की छात्राएं कॉलेज भवन में क्लासें लगवाए जाने की मांग पर अड़ी हैं। बीते दिनों निर्माण कार्य अधर में लटका होने के विरोध में वह सड़कों पर उतरी थी। रोड़ जाम तक लगा दिया था।

जिसके बाद प्रशासन हरकत में आया है और गुरुवार को शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरेक्टर के नेतृत्व में एक टीम जिसमें सिरसा महाविद्यालय के प्राचार्य संदीप गोयल, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग एससी हरपाल सिंह, एक्सईएन केसी कंबोज व रानियां कॉलेज के प्राचार्य महेंद्र प्रदीप कुमार,जेई प्रदीप कुमार, बूटा सिंह पर आधारित टीम ने कॉलेज में मूलभूत सुविधाएं जांची। जहां नए भवन में मूलभूत सुविधाओं का अभाव दिखाई दिया।

व्यवस्थाएं सुधारने का छात्राओं को दिया आश्वासन

कॉलेज में बिजली, पानी व सीवरेज व्यवस्था तक नहीं हो पाई थी। ऐसे में छात्राओं को क्लास लगाने में काफी परेशानी होने की बात सामने आई। भवन के निरीक्षण की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेजी जाएगी। नए साल की पहली तारीख तक कॉलेज में सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करवाने का आश्वासन छात्राओं को दिया है।

राजकीय महिला महाविद्यालय में निरीक्षण कर व्यवस्थाएं जांची गई हैं। जिसमें काफी खामियां नजर आई, जिसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी। नए साल तक कॉलेज भवन को दुरूस्त करवाया जाएगा और पहली तारीख से कक्षाएं इसी भवन में लगाई जाएंगी''
सुखविंद्र सिंह, डिप्टी डायरेक्टर शिक्षा विभाग।

खबरें और भी हैं...