नवरात्र पर्व:माता रानी के जयकारों से मंदिर व घर गुंजायमान नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री का पूजन किया

सिरसा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रानियां में ज्वाला जी से लाई मां की ज्योति का स्वागत करते हुए सोनू ग्रोवर। - Dainik Bhaskar
रानियां में ज्वाला जी से लाई मां की ज्योति का स्वागत करते हुए सोनू ग्रोवर।
  • श्रद्धालुओं ने घरों में किए घट स्थापित, अखंड ज्योत जलाकर व्रत किए शुरू

शारदीय नवरात्र के पहले दिन घट स्थापना के साथ मां दुर्गा के शैलपुत्री स्वरूप का पूजन किया गया। इसी के साथ नौ दिनों तक चलने वाले नवरात्र पर्व का प्रारंभ हो गया। अलसुबह से ही मंदिरों में भक्तों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। श्रद्धालुओं को सामाजिक दूरी बनाकर मां के भव्य स्वरूप के दर्शन किए।

श्रद्धालुओं ने व्रत रखकर सुख-समृद्धि की कामना के साथ कोरोना के खात्मे की प्रार्थना की। मंदिरों के साथ घरों में मां के जयकारों से माहौल भक्तिमय बन गया। शारदीय नवरात्र के पहले दिन मंदिरों के अलावा घरों में भक्तों के बीच उत्साह दिखा। शहर के सालासर धाम मंदिर, सीएमके कॉलेज रोड स्थित दुर्गा मंदिर, रानियां रोड स्थित हनुमान मंदिर, गोशाला मोहल्ला स्थित हनुमान मंदिर, मुल्तानी कॉलोनी स्थित शिव मंदिर सहित अन्य देवी मंदिरों पर सुबह से ही भक्तों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया।

मंदिर परिसर में श्रद्धालु सामाजिक दूरी की व्यवस्था का पालन कर दर्शन करते देखे गए। घरों में भी भक्तों ने विधि विधान से घट स्थापित कर मां दुर्गा के प्रथम स्वरूप मां शैलपुत्री की आराधना कर उपवास रखा। उधर, पूजा सामग्री की दुकानें भी सुबह से ही सज गईं।

मंदिरों में पूरे दिन मां के जयकारे गूंजते रहे। शाम को मां की आरती हुई। घरों में महिलाओं ने भजन गाकर मां दुर्गा का गुणगान किया। वहीं श्रद्धालुओं ने माता को नारियल, चुनरी, शृंगार का सामान, पान, सुपारी, लौंग, बताशे आदि प्रसाद चढ़ाकर परिवार में सुख समृद्धि की कामना की।

मंदिरों में भी रही श्रद्धालुओं की भीड़

प्रथम नवरात्रे पर मंदिरों व घरों में श्रद्धालुओं ने अखंड ज्योत जलाई। इस दौरान कई श्रद्धालुओं ने मंदिरों में ज्योत जलाने के लिए पुजारियों को सामान लाकर दिया। नवरात्र के चलते श्रद्धालुओं ने मंदिरों व घरों में भजन कीर्तन किए। मंदिरों में हवन यज्ञ का भी आयोजन िकया गया। इस दौरान श्रद्धालुओं ने यज्ञ में आहुति डाली। इस दौरान सुख समृद्धि के लिए कामना की गई। अलसुबह से ही मंदिरों में भक्तों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था।

खबरें और भी हैं...