पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम:72 स्वास्थ्य कर्मी डोर टू डोर जाकर 1 से 19 साल तक के साढ़े 27 हजार बच्चों को खिलाएंगे एल्बेंडाजोल की दवा

टोहाना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बच्चों में पेट के कीड़ों के बारे में जागरूक करते हुए आशा वर्कर। - Dainik Bhaskar
बच्चों में पेट के कीड़ों के बारे में जागरूक करते हुए आशा वर्कर।
  • बच्चों को पेट के कीड़ों से मिलेगी मुक्ति, 22 सितंबर तक चलेगा अभियान

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम के तहत 72 स्वास्थ्य कर्मी डोर टू डोर जाकर बच्चों को पेट के कीड़ों से मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाएंगे। यह अभियान रविवार से शुरू कर दिया गया है जोकि 22 सितंबर तक चलेगा। एडिशनल एसएमओ डॉ. कुनाल वर्मा ने बताया कि इसके लिए एएनएम, आशा वर्कर व आंगनबाड़ी वर्करों सहित कुल 72 वर्करों की ड्यूटियां निर्धारित की गई हैं।

जो अपने अपने एरिया में डोर टू डोर जाकर 1 से 19 साल तक के बच्चों व किशोरों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाएंगे। अभियान के लिए डॉ. कुलदीप को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उनके साथ फार्मासिस्ट संदीप कुमार व डॉ. मौसम रहेंगी। उन्होंने बताया कि कृमि संक्रमण होने से बच्चों में कुपोषण व खून की कमी हो जाती है, जिससे पूरा दिन थकावट रहती है। ऐसे बच्चों का मानसिक विकास नहीं होता।

पहले दिन 5 हजार बच्चों को खिलाई दवा

आरबीएसके से संदीप कुमार ने बताया कि अभियान के पहले दिन करीब 5 हजार बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाई हैं। उन्होंने आमजन का आह्वान किया कि कृमि संक्रमण को रोकने के लिए आसपास सफाई रखें, जूते-चप्पल जरूर पहनें, खुले में शौच न जाएं, हाथ साबुन से अच्छी तरह धोएं व साफ पानी पिए।

खबरें और भी हैं...