पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नए नियम:चालक नहीं होने से खाली खड़े टिप्परों को अनुबंधित कंपनी को डीसी रेट पर देगी नप

टोहाना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोहाना। नगर परिषद परिसर में खड़े कवर्ड टिप्पर। - Dainik Bhaskar
टोहाना। नगर परिषद परिसर में खड़े कवर्ड टिप्पर।
  • डोर टू डोर कचरा एकत्रित करने के लिए नप ने 3 साल पहले 35 लाख रुपये में खरीदे थे 6 कवर्ड टिप्पर

नगर परिषद द्वारा करीब तीन साल पहले शहर में डोर टू डोर कचरा एकत्रित करने के लिए खरीदे गए करीब 35 लाख रुपये के 6 कवर्ड टिप्पर पिछले काफी समय से नप प्रांगण में खड़े हैं। कारण इन टिप्परों को चलाने के लिए अब तक स्थाई चालकों की नियुक्ति नहीं हो पाई है जबकि शुरू में इनका संचालन कुछ सफाई कर्मियों द्वारा करवाया गया था लेकिन उसके बाद उन्होंने इन्हें चलाने से मना कर दिया।

जिससे अब ये परिषद कार्यालय प्रांगण में जंग खा रहे हैं वहीं लोग भी परेशान हो रहे हैं। इन कवर्ड टिप्पर का प्रयोग शहर के प्रत्येक मुख्य मार्गों, बाजारों तथा गलियों व मोहल्लों में कूड़ा एकत्र करने के लिए किया जाता था। टिप्पर संचालक गली मोहल्ले में जाकर हूटर बजाते थे।

जिसे सुनकर लोग अपने-अपने घरों से कूड़ा कर्कट लाकर टिप्पर में डाल देते थे। इन टिप्परों में अलग-अलग तरह के कूड़े कर्कट के लिए अलग अलग बॉक्स बने हुए हैं। जिनमें गीला कचरा, सूखा कचरा व रिसाइकलिंग किए जा सकने वाले कचरे को अलग अलग रखा जाता ताकि उनका उसी अनुरूप प्रयोग किया जा सके।

चालकों की स्वीकृति न मिलने पर हुई परेशानी
हालांकि नगर परिषद प्रबंधन द्वारा उक्त टिप्परों को चलाने के लिए चालक नियुक्त किए जाने के लिए उच्चाधिकारियों से स्वीकृति मांगी गई थी लेकिन लंबे समय स्वीकृति नहीं मिल पाई। जिस कारण ये टिप्पर नगर परिषद प्रांगण में खड़े जंग खाते रहे। बाद में जब स्वीकृति मिली तो परिषद द्वारा डोर टू डोर कचरा एकत्रित करने के लिए टेंडर लगा दिए।

अब चूंकि टेंडर हो चुके हैं तथा एक कंपनी को करीब 70 लाख रुपये प्रतिवर्ष के लिए अनुबंधित भी कर लिया गया है। इसलिए परिषद ने चालकों की नियुक्ति को टाल दिया है। बल्कि अब नगर परिषद इन टिप्परों को अनुबंधित कंपनी को डीसी रेट पर मुहैया करवाएगी।

अनुबंधित कंपनी को डीसी रेट पर देंगे

नगर परिषद के सहायक सफाई निरीक्षक रवि कुमार ने बताया कि चूंकि डोर टू डोर कचरा एकत्रित करने के लिए टेंडर हो चुके हैं। इसलिए अब इन टिप्परों को अनुबंधित कंपनी को डीसी रेट पर मुहैया करवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...