गुस्सा:किसान मोर्चा अनुमति लेकर ही लगाएगा जाम मंडी के बाहर 24 घंटे तैनात रहेंगे मोर्चा सदस्य

टोहाना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मजदूरी के रेट बढ़ाने की मांग को लेकर गुरुवार को चौ दिन भी मजदूरों - Dainik Bhaskar
मजदूरी के रेट बढ़ाने की मांग को लेकर गुरुवार को चौ दिन भी मजदूरों
  • धान की खरीद न होने पर चौथे दिन भी मंडी के बाहर जाम, संयुकत किसान मोर्चा ने बैठक कर लिया फैसला

धान की खरीद न होने पर कुछ किसानों द्वारा लगातार चौथे दिन एडिशनल अनाज मंडी के बाहर जाम लगा दिया। संज्ञान लेते हुए संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रशासन के साथ मिलकर एक बैठक आयोजित की। जिसमें इस बात पर सहमति बनी कि अब कोई भी किसान स्वयं सड़क पर आकर जाम नहीं लगाएगा। यदि कोई समस्या होगी तो जाम लगाने से पहले उस बारे में संयुक्त किसान मोर्चा से बातचीत करेगा। उसके बाद किसान मोर्चा मार्केट कमेटी प्रबंधन से समस्या के समाधान की बात करेगा।

यदि वहां से समाधान नहीं हो पाया तो एसडीएम से बात कर समाधान करवाया जाएगा। इसके लिए संयुक्त किसान मोर्चा के कुछ सदस्य एडिशनल अनाज मंडी के बाहर 24 घंटे ड्यूटी देंगे। वहीं, वीरवार को टोहाना अनाज मंडी में 4600 क्विंटल तथा फतेहाबाद में 1844 क्विंटल धान की खरीद हुई। अभी भी मंडियों में आए हुए धान में नमी की मात्रा अधिक होने के चलते खरीद कम हो पा रही है।

किसान मोर्चा ने खुलवाया जाम : संयुक्त किसान मोर्चा के स्थानीय कमेटी के सह संयोजक रंजीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि बैठक के बाद उन्होंने एडिशनल अनाज मंडी के बाहर जाम लगा रहे किसानों से बातचीत की। उन्हें समझाया कि अधिकारियों से बातचीत हो गई है तथा अब धान की खरीद व लदान का काम सुचारू रूप से चलेगा।

जहां तक नमी की बात है वह सरकार की हिदायतों के अनुसार ही धान की खरीद की जाएगी। उन्होंने किसानों का आह्वान किया कि कोई भी किसान स्वयं जाम लगाने का प्रयास ना करें। उससे पहले किसान मोर्चा से बात करें ताकि समस्या का समाधान करवाया जा सके।

जानिए... बैठक में किन बातों पर बनी सहमति : मार्केट कमेटी कार्यालय में एसडीएम की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मार्केट कमेटी सचिव मनोज दहिया, सरकारी खरीद एजेंसियों व संयुक्त किसान मोर्चा के प्रतिनिधि शामिल हुए। जिसमें धान खरीद के लिए किसानों को आ रही समस्याओं पर चर्चा की।

निर्णय लिया गया एडिशनल अनाज मंडी में खरीदे जा चुके धान का लदान शुक्रवार से शुरू हो जाएगा, सरकार की हिदायत अनुसार धान की नमी की मात्रा की जांच कर तुरंत उसे खरीद किया जाएगा। एसडीएम चिनार चहल ने आश्वासन दिया कि धान की खरीद के लिए किसी भी किसान को कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने किसान मोर्चा को अपना स्वयं का मोबाइल नंबर देकर कहा कि यदि कोई समस्या आती है तो वे उनसे संपर्क कर सकते हैं।

इधर, रतिया में व्यापार मंडल ने खत्म कराई हड़ताल

मजदूरी के रेट बढ़ाने की मांग को लेकर गुरुवार को चौ दिन भी मजदूरों ने मार्केट कमेटी कार्यालय में धरना दिया। अध्यक्षता प्रधान जिले सिंह ने की। मजदूरों को मनाने के लिए व्यापार मंडल के पदाधिकारी पहुंचे। व्यापारियों ने कहा सरकार ने मजदूरों की मांग को मानते हुए मजदूरी के रेटों में पिछले साल की तुलना में इजाफा कर दिया।

इस पर मजदूर सहमत हो गए और हड़ताल को समाप्त कर दिया। इस मौके कच्ची लेकर यूनियन के प्रधान जिले सिंह, उपप्रधान अजमेर सिंह,जोनी सिंह, वकील सिंह, सोनू व कृष्ण कुमार व व्यापारी भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...