पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेकाबू हो रहे हालात:तोशाम से प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू, साधन नहीं मिलने पर पैदल जाने को मजबूर

तोशामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लाकडाउन में पैदल घर वापसी करते हुए प्रवासी - Dainik Bhaskar
लाकडाउन में पैदल घर वापसी करते हुए प्रवासी

कोरोना संक्रमण की बेकाबू रफ्तार के बीच गांवों व शहरों से प्रवासी मजदूरों का पलायन एक बार फिर शुरू हो गया है । बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों पर भीड़ बढ़ने लगी है। जो 2020 में लॉकडाउन के बाद के हालात की याद दिलाता है। जब अपने घर जाने के लिए बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर बस अड्डों व रेलवे स्टेशनों पर पहुंचने लगे थे, और जिन्हें साधन नहीं मिला वे पैदल ही मीलों दूर अपने गांव लौट चले थे।

देश में कोविड -19 के मामलों में जनवरी-फरवरी में उल्लेखनीय कमी दर्ज की गई थी। लेकिन मार्च के बाद जब एक बार फिर संक्रमण के मामलों में बढ़ाेतरी शुरू हुई तो इसकी रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। हालात बिगड़ते देख प्रवासी मजदूर एक बार फिर लॉकडाउन के हालात को लेकर डरे हुए हैं। राज्य सरकार ने बीते दिनों पहले वीकेंड लॉकडाउन लगाया था। उसके बाद प्रदेश के गृह मंत्री ने आदेश कर आगामी एक सप्ताह के लिए पूर्ण रूप से लॉकडाउन को बड़ा दिया गया। लॉकडाउन की घोषणा सुनते ही प्रवासी मजदूरों ने अपने गंतव्य को जाने के लिए पलायन करना शुरू कर दिया है।

प्रवासी मजदूरों ने बताया कि वे यहां पर काम के लिए आए थे। परंतु अब यहां पूरी तरह से काम खत्म हो गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना बेकाबू हो रहे हैं। अब तो जान बच जाए और घर सुरक्षित पहुंच जाए। इससे बड़ी और कोई बात नहीं हैँ। जिंदगी रही तो फिर आएंगे और कमाएंगे।

खबरें और भी हैं...