• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Tosham
  • There Should Be A High Level Investigation Into The Dadam Accident, The Accused Should Also Be Punished And The Mining Work Should Not Be Stopped.

किरण चौधरी बोले:डाडम हादसे की हो उच्चस्तरीय जांच, आरोपियों को भी मिले सजा और खनन कार्य बंद न हो

तोशाम16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूर्व मंत्री किरण चौधरी ने डाडम पहाड़ी पहुंचकर घटनास्थल का लिया जायजा

पूर्व मंत्री व तोशाम की विधायक किरण चौधरी शुक्रवार को डाडम पहाड़ी पहुंची और घटनास्थल का जायजा लिया। किरण चौधरी पहाड़ में हुए हादसे में मृतक बागनवाला निवासी विजेंद्र के घर भी शोक व्यक्त करने पहुंची और परिजनों को ढांढस बंधाया। किरण चौधरी ने डाडम पहाड़ी में हुए हादसे की उच्च स्तरीय जांच करने और दोषियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने कहा कि खनन कार्य से करीबन एक लाख लोग जुड़े हुए हैं, लोगों का व्यवसाय व रोजगार भी नहीं जाना चाहिए। तोशाम की विधायक व पूर्व मंत्री किरण चौधरी शुक्रवार को सबसे पहले गांव बागनवाला में मृतक विजेंद्र के घर पहुंची और परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। किरण चौधरी ने कहा कि हादसे में मृतक लोगों के परिजनों के प्रति वे संवेदना व्यक्त करती हैं, भगवान उनको घटना को सहने की शक्ति प्रदान करे। इसके बाद किरण चौधरी डाडम पहाड़ी में घटनास्थल पर पहुंची और खनन क्षेत्र का जायजा लिया। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए किरण चौधरी ने कहा कि पांच साल से वे इस मुद्दे को उठाती रही हैं।

मीडिया से लेकर विधानसभा में भी मुद्दा उठा चुकी हूं कि किस तरह से अरावली क्षेत्र में खनन हो रहा है। उन्होंने कहा कि जिसने भी गलत किया है इसकी उच्च स्तरीय कमेटी से जांच करवाई जानी चाहिए ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए। उन्होंने कहा कि जिसने भी गलत किया है उसके खिलाफ अवश्य ही कार्रवाई होनी चाहिए। सरकार इसमें बिल्कुल भी लीपापोती न करे।

किरण चौधरी ने कहा कि घटनास्थल की जगह देखी है जहां घटना हुई है इसके दोनों ओर वन क्षेत्र है, यह बात समझ से परे है कि किस तरह से बीच का क्षेत्र माइनिंग का हिस्सा है। किरण चौधरी ने कहा दोषियों को कड़ी सजा मिले और यहां के लोगों का व्यवसाय और रोजगार भी न जाए। एक लाख लोग इस व्यवसाय से प्रभावित हैं। इस बात का भी ख्याल रखा जाए कि लोगों का व्यवसाय और मजदूरों का रोजगार बचना चाहिए।

इस दौरान क्रेशर एसोसिएशन के द्वारा किरण चौधरी को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन के माध्यम से क्रेशर एसोसिएशन ने कहा कि लोगों का रोजगार बचना चाहिए, खनन बंद होने से लोगों का रोजगार चला जाएगा। इस मौके पर एडवोकेट हरिसिंह सांगवान, कुलदीप मनसरबास, वजीर डाडम, महेंद्र नंबरदार, सज्जन संडवा, जयप्रकाश हसानिया, संदीप जाटान, सुनील पुनिया, अनिल थिलोड, पवन जांगड़ा, जगदीश झांवरी, एडवोकेट जितेंद्र चहल व जयकुमार पिलानियां आदि उपस्थित थे।

मृतकों के परिजनों को 25-25 लाख दे सरकार: किरण

भिवानी| पूर्व मंत्री एवं विधायक किरण चौधरी ने प्रदेश भर में खनन में हो रही अनियमितताओं की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। शुक्रवार काे डाडम हादसे के बाद यहां पहुंची किरण चौधरी ने मृतकों के परिजनों को 25-25 लाख रुपये मुआवजा और नियमानुसार खनन कार्य की मांग की। मीडिया से रूबरू होते हुए किरण चौधरी ने बताया कि इस सारे मामले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके।

उन्होंने कहा कि डाडम हादसे की सच्चाई तभी सामने आएगी जब सैटेलाइट के माध्यम से पूरे क्षेत्र की जांच हो। फिर चाहे कोई कितना भी बड़ा क्यों ना हो उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। इस अवसर पर अमर सिंह हालुवासिया, राम प्रताप शर्मा, कृष्ण लेघां, देवराज महता, सविता मान, हरी सिंह सांगवान, शीशराम मेचू, राजू मान, शीशराम चेयरमैन, परमजीत मडडू, विजय खोरड़ा अादि उनके साथ थे।

खबरें और भी हैं...