झज्जर में 2 दिन पहले मिले शव की पहचान:दिल्ली का रहने वाला था मृतक, आरोपियों ने पहले किडनैप किया फिर की हत्या

झज्जर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल का मुआयना करती हुई पुलिस। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल का मुआयना करती हुई पुलिस।

हरियाणा के झज्जर में दो दिन पहले गांव सुरखपुर के पास सड़क किनारे मिले शव की पहचान हो गई है। शव को 72 घंटों के लिए झज्जर के सरकारी अस्पताल में रखवाया गया था। उसकी पहचान मयंक निवासी कैर गांव दिल्ली के रूप में हुई है। पुलिस ने कैर गांव के ही 2 युवकों पर हत्या का मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में मृतक के पिता जगदेव ने बताया कि 2 दिन से उनका बेटा घर से लापता था। रविवार को उसके बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने झज्जर आकर देखा तो शव मयंक का ही था। उन्होंने बताया कि गांव में लगे सीसीटीवी फुटेज देखने पर पता चला है कि गांव के ही दो युवक विनय और विनायक उसे गाड़ी में बैठा रहे हैं। जहां पर दोनों आरोपियों ने गाड़ी को धुलवाया वहां पर भी खून के निशान मिले हैं।

दोनों आरोपियों ने पहले मयंक की हत्या की और बाद में उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए झज्जर क्षेत्र में सड़क किनारे फेंक गए। इस पर उन्होंने दोनों के खिलाफ पुलिस में हत्या का मामला दर्ज कराया है। मयंक चार बहनों का इकलौता भाई था।

मृतक के पिता जगदेव के बयान पर गांव के ही 2 युवकों विनय व विनायक पर हत्या का मामला दर्ज किया है। साथ ही अन्य लोगों के शामिल होने की भी बात पुलिस ने कही है। फिलहाल दोनों आरोपियों की तलाश की जा रही है। वहीं मृतक के परिजनों का कहना है कि शव का पोस्टमार्टम बोर्ड के द्वारा कराया जाए।