2 बहनों को ट्रैक्टर ने कुचला:एक की जान गई; पिता की मौत के बाद दोनों पर थी परिवार की जिम्मेदारी

पलवल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पलवल में होडल-गढ़ी पट्टी मार्ग पर शनिवार को ट्रैक्टर ने स्कूटी पर कॉलेज जा रही दो सगी बहनों को टक्कर मार दी। BBA की छात्रा शीतल की मौके पर मौत हो गई, जबकि बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही नीशू को गंभीर हालत में फरीदाबाद रेफर किया गया है। मथुरा (यूपी) के कामर की गढ़ी गांव निवासी दोनों छात्राओं के पिता की मौत हो चुकी है और भाई भी नहीं है। ऐसे में दोनों ही खेती और घर का काम करने के साथ पढ़ाई कर रही थी।

कॉलेज आते समय हादसा

पलवल जिले के होडल थाना के जांच अधिकारी संदीप सिंह ने बताया कि जिला मथुरा (यूपी) के कामर की गढ़ी गांव निवासी दोनों बहनें शीतल और निशू होडल के महारानी किशोरी कॉलेज में पढ़ रही थी। शनिवार को दोनों स्कूटी पर गांव से होडल आ रही थी। गढ़ी गांव से निकली ही थी कि एक ट्रैक्टर ने उनकी स्कूटी में टक्कर मार दी। दोनों छात्राओं को ट्रैक्टर ने कुचल दिया। बीबीए की छात्रा शीतल की मौत हो गई, जबकी बीएससी नर्सिंग की छात्रा निशू गंभीर रुप से घायल है।

ट्रैक्टर चालक फरार

हादसे की सूचना के बाद होडल थाना पुलिस मौके पर पहुंची। छानबीन के बाद शीतल के शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भेजा। घायल निशू को होडल के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसको डॉक्टरों ने फरीदाबाद रेफर कार दिया। दुर्घटना के बाद चालक ट्रैक्टर को मौके पर छोड़कर फरार हो गया।

भाई नहीं है, कभी अहसास नहीं होने दिया

शीतल और नीशू के ताऊ करण ने बताया कि दोनों बहने होडल के महारानी किशोरी कॉलेज में पढ़ती थी। मृतक छात्रा शीतल बीबीए और उसकी बहन घायल निशू बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थी। ताऊ ने बताया कि दोनों बहने हैं, इनका कोई भाई नहीं है और पिता की 2006 में ट्रेन दुर्घटना में मौत हो गई थी। दोनों बहनें अपने घर और खेती का काम मिलकर संभालती थी। उसके बाद पढ़ाई करने के लिए कॉलेज जाती थी। दोनों बहनों ने कभी अपनी मां को यह पता नहीं चलने दिया था कि उनका कोई भाई नहीं है और पिता का हाथ भी सिर से उठ चुका है, लेकिन अब घर में अंधेरा छा गया है।