धार्मिक तालाब की भूमि पर प्लाॅट काटे:लोगों ने डीसी से की जांच कराने की मांग

नरवाना7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गांव भाणा ब्राह्णन में मंदिर, डेरा व पंचायती जमीन में बने धार्मिक तालाब पर किए जा रहे अवैध कब्जे हटवाने, नए तालाब की खोदाई को रोकने समेत कई मांगों को लेकर ग्रामीण रविवार को जिला उपायुक्त से उनके निवास पर मिले। ग्रामीणों ने मांग की कि इस मामले में एसडीएम या सीटीएम को लोकल कमीशन नियुक्त कर पूरे मामले की जांच करवाई जाए, क्योंकि इसमें घोटाले की आशंका है। ग्रामीण अमित, राजेश, मनोज, गौरव, विकास, भरतदास, दीनदयाल, शुभम, समाज सेवी बलजीत सिंह नायक ने कहा कि भाणा में जो धार्मिक तालाब बना हुआ है, उसकी जमीन में कई प्लाट काट दिए गए हैं और इस तालाब को बंद कर इस पर कब्जा जमाने की कोशिश की जा रही है।

ठेकेदार और अधिकारियों द्वारा इसमें मिलीभगत की आशंका है। लोगों की धार्मिक भावना के साथ भी खिलवाड़ किया जा रहा है। पांच एकड़ धार्मिक तालाब के अलावा इसके पास ही समतल पड़ी जमीन में नया तालाब खोदा जा रहा है, जिसकी गहराई बढ़ाई जा रही है, जबकि इसकी कोई जरूरत भी नहीं है। सौंदर्यीकरण के नाम पर भी तालाब की मिट्टी बाहर निकाली जा रही है।

इस कार्य से पूर्व जमीन की निशानदेही भी नहीं करवाई जा रही है। उनकी मांग है कि एसडीएम या सीटीएम द्वारा मौके पर भेज जांच रिपोर्ट मंगवाई जाए। जो नए तालाब की खोदाई की जा रही है, उस काम को बंद करवाया जाए। पूरे मामले की जांच करवाई जाए। डीसी डॉ. मनोज कुमार ने उचित जांच और कार्रवाई का आश्वासन लोगों को दिया है।

खबरें और भी हैं...