• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Jind
  • Angry Farmers Protested Against Khatkar Toll Plaza Committee Spokesperson And Got Ludana Toll Plaza Free

लुदाना टोल प्लाजा पर फ्री निकलने को लेकर विवाद:खटकड़ टोल प्लाजा कमेटी के प्रवक्ता से मारपीट से नाराज किसानों ने धरना देकर लुदाना टोल प्लाजा को करवाया फ्री

जींद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

संयुक्त किसान मोर्चा खटकड़ टोल प्लाजा कमेटी के प्रवक्ता के साथ लुदाना टोल कर्मियों ने मारपीट की। घटना से खफा किसानों ने विरोधस्वरूप टोल प्लाजा को फ्री करवा दिया और धरना शुरु कर दिया। घायल प्रवक्ता को सामान्य अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। खटकड़ टोल प्लाजा के प्रवक्ता सुशील नरवाल शुक्रवार दोपहर बाद कार्यवश गोहाना की तरफ जा रहे थे। लुदाना टोल प्लाजा कर्मियों ने उन्हें टोल देने के लिए कहा।

सुशील ने अपना परिचय देते हुए संगठन से संबंधित पहचान पत्र भी दिखाया। टोल प्लाजा कर्मियों ने उनके पहचान पत्र को मानने से मना कर दिया और गाली गलौच तथा हाथापाई पर उतर आए। टोल प्लाजा कर्मियों ने सुशील के साथ मारपीट की और खिंचकर केबिन के अंदर ले गए। जहां पर उसके साथ फिर से मारपीट की गई। किसी तरह टोल कर्मियों के चंगुल से निकलकर सुशील अपने साथियों से संपर्क साधने में कामयाब हो गया। घटना की सूचना मिलते ही खटकड़ टोल प्लाजा कमेटी के सदस्य तथा अन्य कार्यकर्ता लुदाना टोल प्लाजा पर पहुंच गए।

किसानों को एकजुट होता देख टोल कर्मी वहां से खिसक गए। किसानों ने विरोध जताते हुए टोल प्लाजा को फ्री करवा दिया और धरना शुरू कर दिया। किसानों का कहना था कि टोल कर्मियों की गुंडागर्दी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। घायल सुशील को सामान्य अस्पताल लाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उन्हें प्राथमिक उपचार दिया।

खटकड़ टोल प्लाजा कमेटी ने मामले की शिकायत पिल्लूखेडा थाना पुलिस से की है। खटकड टोल प्लाजा कमेटी के अध्यक्ष सतबीर पहलवान ने कहा कि टोल कर्मियों की यह सरासर गुंडागर्दी है। उन्होंने सीसी टीवी फूटेज को देखा है जिसमे छह सात टोल कर्मी मारपीट करते दिखाई दे रहे हैं। फिलहाल मामले की शिकायत पुलिस को की जा रही है। असंध में शनिवार को होने वाली बैठक में कोई अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

पिल्लूखेडा थाना प्रभारी हरिओम ने बताया कि फ्री गुजरने को लेकर टोल प्लाजा कर्मियों से विवाद हुआ है। जिस पर किसान लामबद्ध हो गए, किसानों से बातचीत जारी है।

खबरें और भी हैं...