अभियान:सड़कों से गोवंश पकड़ने का अभियान आज से, एजेंसी 6 माह तक करेगी कार्य

जींद12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गोहाना रोड बाइपास पर सड़क पर गोवंश। - Dainik Bhaskar
गोहाना रोड बाइपास पर सड़क पर गोवंश।

नगर परिषद शहर की सड़कों से गोवंश को हटाने का अभियान सोमवार से शुरू करेगा। परिषद ने एजेंसी को वर्क ऑर्डर जारी कर दिया है। वर्क ऑर्डर के मुताबिक एजेंसी आगामी 6 माह तक गोवंश को पकड़ेगी। परिषद मुख्य सफाई निरीक्षक का कहना है कि सड़कों पर करीब 3 हजार गोवंश हैं जिसमें सांड की संख्या ज्यादा है। आम जनता को इनसे ज्यादा डर लगा रहता है। इसलिए एजेंसी बेसहारा गाय को पकड़कर जहां श्री गोशाला में छोड़ेगी तो वहीं सांड को पकड़कर नंदीशाला में छोड़ा जाएगा।

प्रशासन की ओर से जयंती देवी मंदिर के सामने और हांसी रोड पर नंदीशाला बनी हुई है। अधिकारियों का कहना है कि संबंधित संस्थाओं से बातचीत पूरी हो चुकी है। सब चीजें फाइनल होने के बाद नगर परिषद ने छह माह में दो हजार गोवंश पकड़ने का वर्क ऑर्डर एजेंसी को दिया है।

यदि उसके बावजूद गोवंश सड़कों पर होंगे तो उनको भी एजेंसी द्वारा पकड़ा जाएगा, जिसकी पेमेंट नगर परिषद द्वारा की जाएगी। नगर परिषद द्वारा 486 रुपए प्रति गोवंश के हिसाब से एजेंसियों को राशि प्रदान की जाएगी। गोवंश पकड़े जाने से लोगों को काफी राहत मिलेगी, क्योंकि इससे आए दिन हादसे हो रहे थे। रात के समय में गोवंश सड़कों पर बैठे रहते हैं। जिससे हादसों के होने की आशंका बढ़ जाती है।

एक साल से नहीं था टेंडर, सड़कों पर बढ़ गई गोवंश की संख्या
करीब एक साल से नगर परिषद द्वारा गोवंश को पकड़ने के लिए कोई टेंडर नहीं लगाया था। इसके चलते धीरे-धीरे शहर की सड़कों पर गोवंश की संख्या बढ़ गई। एक अनुमान के अनुसार इस समय शहर की सड़कों व गलियों में लगभग करीब तीन हजार गोवंश विचरण कर रहा है। वहीं शहर की सड़कों पर घूमने वाले अधिकतर गोवंश भी लम्पी वायरल की चपेट में आ चुके हैं, लेकिन इनके उपचार के लिए अब तक कोई कदम नहीं उठाए गए हैं।

सर्दियों में मिलेगी राहत
इस बार शहर वासियों को सर्दी में गोवंश के चलते हो रहे हादसों से राहत मिलेगी। नगर परिषद अधिकारियों का दावा है कि नवंबर से पहले अधिकतर गोवंश को नंदीशाला व गोशाला में छोड़ दिया जाएगा। इसके बाद इन सभी को टैग लगवाया जाएगा या फिर कलर करवाया जाएगा ताकि पता लग सके कि यह नंदीशाला या गोशाला में छोड़े गए थे।

नप की ओर से टेंडर लगाया गया
शहर में गोवंश की संख्या बढ़ गई है। इसलिए नगर परिषद द्वारा टेंडर लगाया गया था, जिसका वर्क ऑर्डर जारी कर दिया गया है। सोमवार से अभियान की शुरुआत कर दी जाएगी। -मोहन भारद्वाज, मुख्य सफाई निरीक्षक, नगर परिषद, जींद।

खबरें और भी हैं...