• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Kaithal
  • 35 Thousand Tabs Reached For The Children Of Class 9th And 11th In The District, The Department Is Preparing To Distribute

एजुकेशन:जिले में कक्षा 9वीं व 11वीं के बच्चों के लिए 35 हजार टैब पहुंचे, बांटने की तैयारी कर रहा विभाग

कैथल14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के सरकारी स्कूलों की कक्षा 9वीं व 11वीं के बच्चों के लिए 35 हजार टैब जिला मुख्यालय में पहुंच गए हैं। अब विभाग की तरफ से इनको बांटने की तैयारी की जा रही है। इससे पहले 10वीं व 12वीं के बच्चों को 20 हजार टैब दे दिए हैं। दूसरी तरफ आज यानी सोमवार को जींद रोड स्थित डाइट (जिला शिक्षा और प्रशिक्षण संस्थान ) में सुबह 10 बजे जिला के 100 से अधिक टीचरों को बच्चों को पढ़ाई के लिए दिए टैब के संचालन संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा। ताकि बच्चे टैब में एमडीएम एप के अलावा कोई भी इंटरटेंमेंट एप का यूज न कर सकें।

इसको लेकर शिक्षा विभाग निदेशालय की तरफ से जिला शिक्षा अधिकारी को लेटर भी भेजा गया है। फिलहाल कई जगह पर बच्चे टैब में पढ़ाई संबंधित एप के साथ- साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत अन्य इंटरटेंमेंट एप इस्तेमाल कर रहे हैं। इसको विभाग का आईटी सेल पता होने के बावजूद भी रोक नहीं पा रहा है। अब इस पर रोक लगाने को लेकर संबंधित टीचरों की ट्रेनिंग कराई जाएगी। प्रशिक्षण में टीचरों को एमडीएम (मोबाइल डिवाइस मैनेजमेंट) के सत्यापन, उपयोग, आकलन व जांच को लेकर सैमसंग इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स के विशेषज्ञ प्रशिक्षित करेंगे।

टैब में सिर्फ ये एप होनी चाहिए इंस्टॉल
अवसर एप: अवसर एप में सभी कक्षाओं के सभी विषयों के ऊपर प्रसारण रहेगा। इसमें वर्कबुक भी होगी। जिसमें बच्चों से पढ़ाई के उसका रिर्वट भी लिया जाएगा। इसमें बच्चों की शिक्षा स्कील मजबूत करने के लिए अभ्यास प्रश्न पत्र भी रहेंगे। इसी के जरिए बच्चे तैयारी करके सेट की परीक्षा भी दे सकते हैं।

दिक्षा एप: ये सेंटर शिक्षा विभाग की एप है। इसमें पूरे देश के बच्चों का डाटा रहेगा। इसमें अलग अलग राज्यों की पढ़ाई के बारे में वीडियो ऑडियो शामिल रहेंगी। इसमें विशेष तौर के कंटेंट व असेसमेंट रहेंगी।
वन स्टूडेंट एप: वन स्टूडेंट ऐप में बच्चों के होमवर्क की डिटेल रहेगी। इसमें बच्चे अपने विषयों के बारे में अलग-अलग तरीके वीडियो देख सकते हैं। इसमें बच्चे के काम करने के तरीके और उसके रिजल्ट का पूरा ब्यौरा रहेगा। ऐसे ही टीचरों के लिए भी उक्त तीनों ऐप जरूरी रहेंगी, लेकिन टीचरों के टैब में वन टीचर ऐप भी जोड़ी गई है। इसमें टीचर बच्चों को वर्क के बारे में बताएंगें और बच्चों की एप को मॉनिटर करेंगे।

बच्चों को दिए टैब संबंधित प्रशिक्षण के लिए सोमवार को संबंधित स्कूलों के 100 से अधिक टीचरों को ट्रेनिंग दी जाएगी। इसको लेकर सभी स्कूलों में नोटिफिकेशन भेज दिया गया है। इस प्रशिक्षण में सभी टीचरों को टैब के संचालन, सत्यापन जांच व आकलन के बारे बताया जाएगा। -शमशेर सिंह सिरोही, जिला शिक्षा अधिकारी कैथल

खबरें और भी हैं...