पल्स पोलियो अभियान:जिले में पोलियो अभियान के पहले दिन 81 हजार से अधिक बच्चों को पिलाई गई दवा

कैथल6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में स्वास्थ्य विभाग ने प्लस पोलियो अभियान में एक्शन मोड में काम किया है। पहले ही दिन पूरे लक्ष्य में से 73.76 प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक पिला दी गई। अब दो दिन में महज 26.24 प्रतिशत बच्चे ही बकाया बचे हैं। रविवार को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जिले के सभी गांवों व कस्बों में इस अभियान को चलाया गया। इस दौरान 615 बूथ, 31 ट्रांजिट पाॅइंट व 73 मोबाइल टीमों ने काम किया। सिविल सर्जन डॉ. रेनू चावला ने बताया कि पल्स पोलियो अभियान को लेकर सभी सीएचसी, पीएचसी व उप स्वास्थ्य केंद्रों में पैरामेडिकल स्टाफ व डॉक्टरों को निर्देश दिए गए थे।

इस दौरान गांवों के सभी गली मोहल्लों व शहरों के सभी वार्डों में 0 से 5 साल के बच्चों को पोलियो खुराक पिलाई गई। दूसरी तरफ सिविल अस्पताल से लेकर सभी सीएचसी, नागरिक अस्पताल, पीएचसी व उप स्वास्थ्य केंद्रों पर दवाई उपलब्ध थी। जिसको जहां सहूलियत लगी उसने वहां जाकर अपने बच्चों को दवा पिलाई। अब दूसरे दिन भी इसी तरीके से अभियान जारी रहेगा। आज भी लगातार अलग अलग जगहों पर पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। डॉ. चावला ने कहा कि हेल्थ वर्कर, पैरामेडिकल स्टाफ व डॉक्टरों की टीम ने मेहनत की है। जल्द ही पूरे लक्ष्य को पूरा करने का काम करेंगे।

जिले में 0 से 5 साल के 1 लाख 10 हजार 447 बच्चे स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड में दर्ज हैं। विभाग ने अभियान में तत्परता दिखाई तो पहले दिन 81 हजार 461 बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई गई। बाकी बचे बच्चों को अगले दो दिनों में पोलियो की खुराक पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी लगे हुए हैं।

स्टेशन पर भी दवा पिलाने के लिए कर्मी तैनात
पल्स पोलियो अभियान के तहत एक भी बच्चा नहीं छूटे इसके लिए विभाग द्वारा व्यापक तैयारियां की गई है। घर घर जाकर एवं चौक-चौराहे से लेकर स्टेशन पर भी दवा पिलाने के लिए कर्मी तैनात किए गए हैं। जो बाहर से आने-जाने वाले यानी सफर कर रहे बच्चे को दवा पिला रहे हैं। ताकि सफर पर निकले बच्चे वंचित नहीं रहे।

खबरें और भी हैं...