• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Kaithal
  • The City Will Also Be Cleaned At Night, Tender Process Completed, Work Order Will Be Issued On Monday, Budget Of 2.25 Crores Annually

{शहर की एससी बस्तियों में कच्ची गलियां होंगी पक्की:शहर में रात को भी होगी सफाई, टेंडर प्रक्रिया पूरी, सोमवार को जारी होगा वर्क ऑर्डर, सालाना 2.25 करोड़ का बजट

कैथल13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नगर परिषद की इंजीनियरिंग विंग ने एक बार फिर आधा दर्जन कच्ची गलियों को पक्का करने के लिए टेंडर ऑनलाइन लगाए हैं। इसके अलावा अर्जुन नगर में संत रविदास मंदिर में हॉल का निर्माण और सीवन गेट में अंबेडकर भवन का निर्माण होगा। इन सभी कामों पर करीब 1 करोड़ 91 लाख 66 हजार 407 रुपए खर्च होंगे। ये टेंडर 13 मई को लगाए गए हैं, जो 25 मई को खुलेंगे। नगर परिषद से मिली जानकारी के अनुसार वार्ड 15 में ढाबे के पास गली का निर्माण होगा जिस के लिए करीब 3 लाख 99 हजार 462 रुपए का बजट तय किया गया है।

वार्ड 12 में सुंदर के मकान से जगदीश करियाणा स्टोर तक गली निर्माण पर 34 लाख 49 हजार 645 रुपए, वार्ड 3 में रविदास मोहल्ला में 35 लाख से एक गली का निर्माण किया जाएगा। वार्ड 19 की गली नंबर 16 में वाल्मीकि चौपाल पर 13 लाख 57 हजार 740 रुपए का टेंडर लगाया गया है। वार्ड 22 में वाल्मीकि बस्ती में 2 गलियों के निर्माण पर करीब 41 लाख रुपए की लागत आएगी। इसके अलावा सीवन गेट में अंबेडकर भवन के निर्माण पर 29 लाख 82 हजार 867 रुपए और अर्जुन नगर वार्ड एक में संत रविदास मंदिर में हॉल के निर्माण पर 32 लाख 65 हजार 747 रुपए खर्च होंगे।

ये टेंडर कब खुलेंगे, कब होगा काम शुरू| नगर परिषद की इंजीनियरिंग विंग ने 30 अप्रैल को 1.28 करोड़ रुपए के टेंडर लगाए गए थे जिसके अनुसार वार्ड 12, 26, 13 और वार्ड एक में 15 गलियों के निर्माण किया जाना था। लेकिन 4 दिन बाद भी इन टेंडरों को खोला नहीं गया है जिससे विकास कार्य शुरू नहीं हो पाए हैं, जबकि इसके बाद करीब 3 करोड़ से अधिक की राशि के टेंडर लग चुके हैं। शहर में करीब 53 कच्ची गलियों का निर्माण समेत कई चौपाल व अंबेडकर भवनों का निर्माण किया जाना है। अब तक नप 20 से अधिक गलियों के निर्माण के टेंडर लगा चुकी है।

रात की सफाई का टेंडर खुला, जल्द जारी होगा वर्क ऑर्डर| नगर परिषद प्रशासन ने शहर में रात की सफाई के लिए 10 अप्रैल को टेंडर लगाया था, जो 28 अप्रैल को खुलना था। लेकिन पहले एमई और एक्सईएन के पद खाली होने के कारण टेंडर प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो सकी। लेकिन अब एमई और एक्सईएन दोनों पद पर हैं। नए विकास कार्यों के टेंडर भी लगाए जा रहे हैं। अब बताया गया है कि रात की सफाई का टेंडर की तकनीकी और फाइनेंशियल बिड खोल दी गई है। सोमवार तक वर्क ऑर्डर जारी हो सकता है। बता दें कि शहर में करीब एक साल से रात की सफाई का काम बंद है। अप्रैल माह में नप ने 2.25 करोड़ का टेंडर ऑनलाइन किया था। लेकिन अब इसमें भी देरी की जा रही है।

रात की सफाई का टेंडर खोल दिया गया है। जल्द ही वर्क ऑर्डर जारी कर दिया जाएगा। जो अन्य टेंडर लगे हुए थे, उनकी तकनीकी बिड खोली जा रही हैं। जल्द ही सभी काम शुरू होंगे जिससे आम आदमी को फायदा मिलेगा। राजकुमार शर्मा, एमई, नगर परिषद, कैथल।

खबरें और भी हैं...