पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:बाईपास के कई चौक पर तेज स्पीड के कारण होते हैं हादसे, लोगों ने की स्पीड ब्रेकर बनाने की मांग

असंधएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मलिकपुर रोड के पास बाईपास से गुजरते वाहन। - Dainik Bhaskar
मलिकपुर रोड के पास बाईपास से गुजरते वाहन।

शहर के चारों तरफ से यातायात की सुगमता के लिए बाईपास का निर्माण किया गया है। लेकिन जहां बाईपास के कारण लोगों को शहर के जाम से निजात मिलती है, वहीं बाईपास के कई चौक पर तेज स्पीड के कारण हादसे भी हो रहे हैं। हादसों की ज्यादा संख्या मलिकपुर लिंक रोड और सफीदों रोड चौक पर ज्यादा है।

सफीदों रोड पर तो करीब एक माह पूर्व एक महिला की तेल के टैंकर की चपेट में आने से एक महिला की मौत हो चुकी है। वहीं इससे पहले भी कई बड़े हादसे हो चुके हैं। लेकिन फिर भी यहां ब्रेकर नहीं बन पाया है। हादसे का सबसे बड़ा कारण पानीपत रिफाइनरी से तेज गति से आने वाले तेल के टैंकर भी है। जींद और कैथल की तरफ जाने वाले तेल के टैंकर बहुत तेज रफ्तार से बाईपास से गुजरते हैं।

ऐसे में बस स्टैंड और सफीदों की ओर से आने वाले वाहन चालकों को टक्कर मार देते हैं। ऐसे में न तो इन चौकों पर ट्रैफिक लाइट की कोई व्यवस्था है और न ही कोई पुलिस कर्मचारी वहां तैनात होता है। बाईपास के चौकों पर ट्रैफिक लाइट और यहां पुलिस कर्मचारी तैनात न होने से परेशान लोगों ने अब यहां ब्रेकर बनाए जाने की मांग की है।

सबसे ज्यादा समस्या मलिकपुर रोड से असंध की ओर आने के दौरान होती है। जब मलिकपुर की ओर से वाहन चालक आते हैं तो बाइपास की ऊंची रेलिंग होने के कारण वाहन दिखाई नहीं देते। दोनों तरफ से वाहनों की तेज गति होने के कारण यहां टक्कर हो जाती है। हादसों को देखते हुए यह सबसे बड़ा डेंजर पॉइंट है।

सालवन रोड पर ब्रेकर बना दिए गए हैं। सफीदों चौक के पास भी एक तरफ ब्रेकर बन गया है। तापमान कम होने के कारण तारकोल पकड़ नहीं कर पाएगा। थोड़ा सा तापमान बढ़ेगा तो फरवरी माह की शुरुआत में सभी जगह ब्रेकर बना दिए जाएंगे।
-अनिल दहिया, एसडीओ, पीडब्ल्यूडी असंध।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें