पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निर्देश:कबूलपुरखेड़ा में तीन युवकों की संदिग्ध हालात में मौत को लेकर हुई महापंचायत

असंध6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कबूलपुरखेड़ा में महापंचायत में मौजूद लोगों को संबोधित करते पूर्व मंत्री कृष्ण कुमार बेदी। - Dainik Bhaskar
कबूलपुरखेड़ा में महापंचायत में मौजूद लोगों को संबोधित करते पूर्व मंत्री कृष्ण कुमार बेदी।
  • पूर्व मंत्री कृष्ण बेदी ने पुलिस को जल्द जांच कर न्याय दिलवाने के दिए निर्देश

भास्कर न्यूज | असंध गांव कबूलपुरखेड़ा से 200 मीटर दूरी पर गन्ने के खेत में 14 फरवरी की सुबह तीन भाइयों की संदिग्ध मौत के बाद शव मिलने के मामले में सोमवार को गांव में पंचायत हुई। इसमें कबूलपुरखेड़ा में पीड़ित परिजन व समाज के लोग पहुंचे। महापंचायत करके पीड़ित परिजनों ने पुलिस कार्रवाई पर सवाल खड़े किए। वहीं पंचायत में पूर्व मंत्री व मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार कृष्ण कुमार बेदी ने भी शिरकत की। बेदी ने पुलिस अधिकारियों को मामले में जल्द से जल्द उचित कार्रवाई करके पीड़ित पक्ष को न्याय दिलवाए जाने के निर्देश दिए। अखिल भारतीय वाल्मीकि महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव कुमार सिसला की अध्यक्षता में महापंचायत हुई। इस पंचायत में परिजन व पीड़ित पक्ष के लोगों ने पुलिस कार्रवाई पर सवाल खड़े किए। परिजनों ने आरोप लगाया कि यह ब्लाइंड मर्डर है, लेकिन पुलिस जांच अधिकारी ने इसे सड़क हादसा बना दिया। पीड़ितों ने जांच ‌अधिकारी को सस्पेंड कर दिए जाने की मांग की। इस दौरान पंचायत के बीच थाना प्रभारी कमलदीप सिंह ने बताया कि उन्होंने मतलौडा से लेकर कबूलपुरखेड़ा तक के सीसीटीवी चेक कर लिए हैं। वहीं कॉल डंप ले लिए हैं और कई रिपोर्ट आनी बाकि हैं। पूर्व मंत्री कृष्ण बेदी ने कहा कि तीनों युवकों की मौत के बाद पीड़ितों का भरोसा केवल पुलिस पर रह जाता है। उन्होंने कहा कि अगर इस केस में जांच अधिकारी ने कोई कोताही बरती है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए। इस दौरान अखिल वाल्मीकि महापंचायत के प्रदेश उपाध्यक्ष नाथू राम, डॉ. विक्रम सिंह, सुरेंद्र लाठा, अशोक, तेजपाल उपलाना, सरपंच प्रतिनिधि सुखा सिंह सहित अन्य शामिल रहे। ये था पूरा मामला : 13 फरवरी की रात को गांव कबूलपुरखेड़ा निवासी बंटी, अक्षय और खराजपुर निवासी उनकी बुआ का लड़का रविंद्र पानीपत के मतलौडा से अपना काम खत्म करने के बाद रात को अपने घर लौट रहे थे। वह रात को अपने घर नहीं पहुंच पाए। सुबह परिजनों को सूचना मिली थी कि तीनों के शव गांव से 200 मीटर दूर गन्ने के खेत में पड़े हुए हैं।

किसान आंदोलन से कम समय हो तो सीआईए को दें मामला सीएम के राजनीतिक सलाहकार कृष्ण बेदी ने थाना प्रभारी कमलदीप सिंह को कहा कि पीड़ित परिजनों की मांग है कि केस में जांच आगे नहीं बढ़ पा रही है। ऐसे में अगर पुलिस के पास किसान आंदोलन और अन्य कारणों से कम समय है तो इस केस को सीआईए को दे दें। ताकि ‌जल्द जांच हो सके। इस पर थाना प्रभारी कमलदीप ‌सिंह ने कहा कि वह मामले में जल्द ही जांच करके मामले का खुलासा करेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें