दिवाली पर शहर रोशन:दीपावली : कोरोना काल के बाद बाजारों में बढ़ी भीड़, दीपों की सराभोर से रोशन हुए शहर और गांव

घरौंडाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घरौंडा.  दीपावली पर हाथों में फुलझड़ियां लेकर त्योहार मनाते बच्चे। - Dainik Bhaskar
घरौंडा. दीपावली पर हाथों में फुलझड़ियां लेकर त्योहार मनाते बच्चे।

घरौंडा में दिवाली बड़े धूमधाम से मनाई गई। दो साल के कोरोना काल के बाद इस बार बाजारों में व्यापारी और लोगों में काफी उत्साह नजर आया। लोगों ने भी जमकर खरीदारी की। दुकानदारों का कहना है कि लोगों को सोशल डिस्टेंस और मास्क लगाकर ही खरीददारी करनी चाहिए, ताकि कोरोना से बचा जा सके। घरौंडा में इस बार दिवाली की खूब धूम रही है, जहां लोगों ने जमकर खरीददारी की, वहीं व्यापारियों के चेहरे भी खिले हुए नजर आए। इस बार बाजारों में सोने और गिफ्ट सहित सभी दुकानों पर लोगों की भीड़ नजर आई। कोरोना काल के बाद इस बार जहां आम नागरिक खुश नजर आया, वहीं दुकानदारों के चेहरे की खुशी नजर आई। घरौंडा के सभी बाजार लाइटों से सजाए गए और चारों तरफ रोशनी ही रोशनी नजर आई। लोगों का कहना है कि दो साल बाद उन्होंने पहली बार इस तरह खुशी से दीवाली मनाई है। व्यापार मंडल के महासचिव मोहिंद्र सोनी का कहना है कि इस बार दुकानदार काफी खुश नजर आए, क्योंकि कोरोना काल में दीवाली का मजा फीका रहा था, लेकिन इस बार लोगों ने खूब खरीददारी की और राहत की सांस ली। उन्होंने बाजार में खरीदारी करने आने वालों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने के साथ-साथ मास्क लगाने की भी सलाह दी। लक्ष्मी पूजन किया गुरुवार रात लोगों ने दिवाली त्यौहार मनाते हुए लक्ष्मी पूजन किया। दीपों की जगमगाहट से पूरा शहर रोशन हो उठा। नन्हें बच्चें व बुढ़े भी हाथों में फूलझडिय़ां लेकर अपना दीवाली मनाते नजर आए। शहरवासियों का कहना है कि दीवाली का त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास का पर्व है। भगवान श्रीराम के वनवास के बाद अयोध्या आगमन की खुशी में दिवाली का त्यौहार मनाया जाता है।

खबरें और भी हैं...